पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान रमता सिंह का चौथे दिन अंतिम संस्कार:टिकरी बॉर्डर से लौटते वक्त गागा कैंचिया के पास हार्ट अटैक से हुई थी मौत

लहरागागा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

टिकरी बॉर्डर से लौटते समय रविवार को हार्ट अटैक से मरने वाले गांव खोखरकलां के किसान का बुधवार को चौथे दिन अंतिम संस्कार कर दिया गया। नायब तहसीलदार मनजीत सिंह ने पीड़ित परिवार को 5 लाख रुपए का चेक सौंप दिया। इसके बाद मृतक किसान रमता सिंह का मूनक के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया गया और देर शाम गांव के श्मशानघाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

बता दें कि गांव खोखर कलां का किसान रमता सिंह भी शुरू से ही दिल्ली आंदोलन में शिरकत कर रहा था। एक माह दिल्ली आंदोलन में टिकरी बार्डर पर रहने के बाद वह रविवार को गांव वापस लौट रहा था। जब वह लहरागागा के नजदीक गागा कैंचिया के पास पहुंचा तो उसे हार्ट अटैक आ गया। जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

रमता सिंह के परिवार पर 10 लाख रुपए का कर्जा है। भाकियू की ओर से मांग की गई थी कि पीड़ित परिवार का पूरा कर्जा माफ किया जाए। परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए और 10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए। सभी मांगो को लेकर भाकियू ने मृतक का अंतिम संस्कार न करने का एलान किया था।

खबरें और भी हैं...