पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पक्का करने की मांग:पीआरटीसी और पनबस के कच्चे कर्मियों ने 4 घंटे किया वित्त मंत्री की कोठी का घेराव

मलोट8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज ट्रांसपोर्ट मंत्री और मुख्यमंत्री के खिलाफ करेंगे प्रदर्शन, 28 से करेंगे तीन दिवसीय हड़ताल

पंजाब रोडवेज, पनबस व पीआरटीसी कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन पंजाब की ओर से मांगें मनवाने के लिए कैबिनेट मंत्रियों के घेराव व घरों के समक्ष धरनों के शुरू किए कार्यक्रम के तहत आज यूनियन ने राज्य के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल की गांव बादल स्थित रिहायश पर काली झंडियां लेकर 4 घंटे प्रदर्शन किया। लगभग 150 कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

इस मौके पर लंबी के बीडीपीओ राकेश कुमार को उन्होंने मांगपत्र सौंपा जिन्होंने प्रदर्शनकारियों को उनकी मांगों संबंधी जल्द बैठक करवाने का विश्वास दिलाने पर धरना समाप्त कर दिया गया। यूनियन के प्रधान कमल कुमार ने बताया कि मनप्रीत सिंह बादल की ओर से पहले भी कई बार ज्ञापन लेकर मांगें हल करने का आश्वासन तो दिया गया है लेकिन हल नहीं किया जाता। जब तक हल नहीं होता संघर्ष जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि कल मालेरकोटला में ट्रांसपोर्ट मंत्री व मुख्यमंत्री के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया जाएगा, 28-29-30 जून को तीन दिवसीय हड़ताल करके 29 जून को पटियाला में महारैली की जाएगी व मोती महल की ओर कूच किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आज का प्रदर्शन यहीं समाप्त करते है क्योंकि उन्होंने यह विश्वास दिलाया गया है सब कमेटी से जल्द ही बैठक करके मांगों संबंधी चर्चा करने के लिए सहमति बनाई जाएगी। इस अवसर पर मुक्तसर से डिपो प्रधान हरजिंदर सिंह, सचिव तरसेम सिंह, पीआरटीसी बठिंडा से गुरसिकंदर सिंह, पीआरटीसी बरनाला से प्रधान निरपाल सिंह, पीआरटीसी बुढलाडा से गुरसेवक सिंह, पीआरटीसी फरीदकोट से हरजिंदर सिंह, पीआरटीसी संगरूर से जसविंदर सिंह व पंजाब रोडवेज पनबस/पीआरटीसी के 6 डिपुओं के वर्कर उपस्थित थे।

रोडवेज कर्मचारियों की मुख्य मांगें

  • कच्चे मुलाजिमों को तुरंत पक्का किया जाए।
  • सरकारी बसों की संख्या कम से कम 10 हजार की जाए।
  • रिपोर्टों की कंडीशन को रद्द किया जाए।
  • बराबर काम के बदले बराबर वेतन दिया जाए।
  • पीआरटीसी के ठेकेदार का एग्रीमेंट रद्द किया जाए।
खबरें और भी हैं...