डिपो हाेल्डर कहता है / गेहूं मुझे बेच पैसा लेकर घर जाओ जब इनकार किया तो बोला...गेहूं नहीं है, बाद में आना

Sell me wheat, go home with money and when you refuse I said ... no wheat, come back later
X
Sell me wheat, go home with money and when you refuse I said ... no wheat, come back later

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

मलोट. (हरदीप सिंह खालसा) पंजाब सरकार के बाद केन्द्र सरकार की गरीब परिवारों के लिए मुफ्त राशन वितरण योजना के तहत डिपुओं से मिलने वाली गेहूं एवं दाल को लेकर जरूरतमंद परिवारों ने राशन प्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुए डिपाे होल्डरों पर मनमानी करने का आरोप लगाया है।

मामला सब डिवीजन मलोट के गांव हाकूवाला का है, जहां लोगों ने राशन कार्ड काटने पर सरकार को आड़े हाथों लिया, वहीं गांव के डिपाे होल्डर के विरुद्ध भी अपनी भड़ास निकाली। जबकि डिपाे होल्डर लोगों द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को गलत बता रहा है। जबकि फूड सप्लाई विभाग डिपाे होल्डर के खिलाफ लोगों की शिकायत की बात कबूल तो करता है, लेकिन किसी भी लिखित शिकायत न आने के कारण डिपाे होल्डर के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए अपने आप को बेबस बता रहा है।

गांव हाकूवाला में आम आदमी पार्टी के हलका इंचार्ज कारज सिंह विर्क, गुरिंजिंदर सिंह समरा की अध्यक्षता में एकत्रित हुए गरीब परिवारों ने फूड सप्लाई विभाग एवं डिपू होल्डरों की मनमानियां बंद करने की मांग की। हाकूवाला की विधवा महिला तेज कौर ने बताया कि गांव का डिपाे करीब दो किलोमीटर दूर पड़ता है और डिपाे होल्डर अपनी मनमर्जी से राशन देता है और कई बार दो-दो घंटे खड़ा होने के बाद भी गेहूं नहीं देता और उसका गेहूं वितरण का कोई निर्धारित समय नहीं जब जी करता है गेहूं बांटता है नहीं तो नहीं।

इस तरह सोहन सिंह नाम बुजुर्ग ने कहा कि डिपो हाेल्डर गेहूं देने से पहले कहता है कि गेहूं मुझे बेचकर पैसे लेकर घर जाओ जब इन्कार किया तो उसने खाली वापस भेज दिया और बोला नहीं है गेहूं। सुखजीत कौर ने बताया कि हमारा कार्ड में नाम है गेहूं भी मिलती हैं। मैने अपनी बेटी के साथ पांच चक्कर लगाए पर डिपाे होल्डर बोलता है जहां मर्जी चले जाओ लेकिन गेहूं नहीं मिलेगा। महिलाओं से बतमीजी से पेश आता है।

विधवा अमरजीत कौर ने बताया कि डिपाे 2 किमी. दूर पड़ता है और जब गेहूं लेने जाते हैं तो कई बार कहता है कि आपका नाम लिस्ट में नहीं है और हमें बुरा भला बोलता है और अपनी मर्जी से एक दिन ही गेहूं बांटता है और बाद में कहता है गेहूं नहीं है और दरवाजा बंद करता लेता। 

गेहूं का वितरण चालू है : इंस्पेक्टर

लंबी फूड सप्लाई विभाग के इंस्पेक्टर ओम प्रकाश ने बताया कि गांवों में गेहूं की वितरण चालू है और नीले कार्डाें पर मिल रही है। डिलीट होने के बारे अभी तक कोई भी डायरेक्शन नहीं आई। इंस्पेक्टर ने कहा कि डिपाे होल्डर कौर सिंह के विरुद्ध दो-तीन व्यक्तियों ने शिकायत की है, लेकिन लिखित तौर पर किसी ने शिकायत नहीं की, डिपाे होल्डर राशन बांटने से इनकार नहीं कर सकता। अगर शिकायत आएगी तो कार्रवाई की जाएगी।

डिपाे होल्डर ने सभी आरोप नकारे

डिपाे होल्डर कौर सिंह से बात की गई तो उसने अपने ऊपर महिलाओं द्वारा दुर्व्यवहार करने के लगाए सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक नीले कार्ड धारक को राशन बांटा जाता है किसी से कोई पक्षपात नहीं किया जाता। कुछ व्यक्ति जानबूझकर उसे बदनाम कर रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना