पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सरकार के 3 आर्डिनेंस का विरोध:कृषि अध्यादेश को रद्द करवाने के लिए 10 किसान जत्थेबंदियों ने मोगा में की रोष रैली, आज भी अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शन

मोगा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दाना मंडी में मांगों को लेकर रोष रैली करते दस किसान जत्थेबंदियों के नेता।
  • अनाज मंडी में किसानाें, युवाओं और महिलाओं ने एक साथ केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
  • चेतावनी- जब तक केंद्र की ओर से तीनाें अध्यादेश रद्द नहीं हाेंगे, संघर्ष जारी रहेगा

केंद्र सरकार द्वारा पास किए नए कृषि अध्यादेश को रद्द करवाने के लिए देश स्तरीय आह्वान के तहत पंजाब की दस किसान जत्थेबंदियों की ओर से अनाज मंडी में रोष रैली की गई। इसमें हजारों किसानों, नौजवानों व महिलाओं ने शमूलियत की।

रैली को संबोधित करते किरती किसान यूनियन के निर्भय सिंह ढुडीके, राजेन्द्र सिंह दीप सिंहवाला, भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी के लाल सिंह गोलेवाला, गुरदीप सिंह वैरोके, क्रांतिकारी किसान यूनियन के गुरमीत महिमा, अवतार महिमा, कुलहिंद किसान सभा के सूरत सिंह, भूपेन्द्र सांबर, भारतीय किसान यूनियन मान के बलवंत सिंह ब्रह्मके, किसान संघर्ष कमेटी कोट बुड्ढा के सुखदेव मंड, पंजाब किसान यूनियन के गुरतेज सिंह, बलदेव सिंह जीरा ने कहा कि यह तीन ऑर्डिनेंस तीहरे कत्ल की साजिश है, जो किसान, मजदूर व ग्राहकों को तबाह कर देगा।

वहीं, नए ऑर्डिनेंस जहां अनाज की सरकारी खरीद को समाप्त कर रहे हैं, वहीं लाखों किसानों को जमीनों से बाहर करके यूरोप की तर्ज पर हजारों एकड़ के बड़े फार्म स्थापित करके बड़ी कंपनियों को खेती क्षेत्र पर कब्जा करवाने की ओर बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांट्रेक्ट फार्मिंग के नाम पर ऐसा भू-माफिया पैदा होगा, जिसको देश की पार्लियामेंट कानूनी मान्यता देगी। उन्होंने कहा कि पंजाब की दो-चार हजार शैलर, आढ़तियों, ग्रामीण मजदूर, किसान ग्राहक व छोटे दुकानदार बुरी तरह से तबाह होंगे। यह ऑर्डिनेंस महज किसानी को बर्बाद नहीं करेगा, बल्कि पंजाब समेत पूरे देश को बर्बाद कर देगा।

उन्होंने कहा कि सिर्फ खेती क्षेत्र में ही बढ़ोत्तरी दर दर्ज की जा रही है। देश की आधी आबादी अभी भी खेती क्षेत्र पर निर्भर है, लेकिन सरकार इस क्षेत्र को अब भी कारपोरेट हाथों में सौंपने जा रही है। इससे देश में बेरोजगारी व भूखमरी के रिकाॅर्ड टूटेंगे। वहीं, नेताओं ने कहा कि कृषि अध्यादेश रद्द होने तक संघर्ष जारी रहेगा।

मार्केट कमेटी कर्मचारी यूनियन ने किसान यूनियन को दिया समर्थन
भारत सरकार द्वारा कृषि से संबंधित 3 आर्डिनेंस पास किए गए हैं। इनके विरोध में किसान यूनियन द्वारा 15 सितंबर को अलग-अलग जगह पर धरना-प्रदर्शन किया जा रहा है। इस संबंधी मार्केट कमेटी कर्मचारी यूनियन जिला फाजिल्का और इकाइयां फाजिल्का किसानों द्वारा दिए जा रहे धरने का पुरजोर समर्थन करती है।

इस संबंधी यूनियन के जिला प्रधान करन खेड़ा, मार्केट कमेटी जलालाबाद के प्रधान अमित वर्मा, मार्केट कमेटी फाजिल्का के प्रधान मनदीप रहेजा, मार्केट कमेटी अरनीवाला के प्रधान राजेश कुमार और मार्केट कमेटी अबोहर यूनियन के महासचिव शविंदर सिंह द्वारा धरने का समर्थन करने संबंधी स्वीकृति दी गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें