मोगा के पांच होटलों पर एकसाथ छापेमारी:4 होटलों के 5 मैनेजर गिरफ्तार, एक के मैनेजर और मालिक को पकड़ने के लिए पुलिस कर रही छापेमारी, 3 में चलता मिला देहव्यापार, 2 में एंट्री नहीं

मोगा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मोगा के एक होटल से पकड़े लड़के-लड़कियों को थाने ले जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
मोगा के एक होटल से पकड़े लड़के-लड़कियों को थाने ले जाती पुलिस।
  • ग्राहकों से वसूली जाती है मोटी राशि, प्रदेश सरकार को लगाया जा रहा चूना

मोगा पुलिस ने यहां स्थित पांच होटलों में एक साथ रेड मारकर कई गैरकानूनी गतिविधियों को बेनकाब किया। कई होटलों में ग्राहकों को शराब, शबाब व गोश्त परोसने के लिए मोटी रकम वसूलने के बाद उसका कहीं कोई हिसाब नहीं रखा जाता और सरकार को टैक्स चोरी के रूप में सरकारी खजाने को चूना लगाया जा रहा है। एक होटल से भुक्की बरामद हुई।

पुलिस ने इन होटलों के 6 मैनेजरों, एक मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इनमें से 5 मैनेजरों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने दो डीएसपी मनजीत सिंह व गुरदीप सिंह के नेतृत्व में 3 इंस्पेक्टरों और करीब 3 दर्जन पुलिस कर्मियों ने बुधवार को छापों को अंजाम दिया था।

मैनेजर से चूरापोस्त बरामद, रजिस्टर में पैसों की एंट्री तक नहीं

थाना मैहना के इंस्पेक्टर लखबीर सिंह के अनुसार, मुखबिर ने बताया कि बुघीपुरा चौक से अमृतसर रोड को जाने वाली सड़क पर स्थित होटल ग्रैंड विला का मैनेजर भोले-भाले लोगों को सस्ते रेट में बेहतर सुविधाएं देने का झांसा दे रहा है। इसके अलावा टैक्स बचाने के लिए रजिस्टर में पैसों की एंट्री भी नहीं की जा रही है।

ऐसा कर होटल मैनेजर राज्य सरकार के खजाने को नुकसान पहुंचा रहा है। मैनेजर रणजीत सिंह (डबरा सुराला, जिला अल्मोड़ा, उत्तराखंड) का निवासी है। वह चूरापोस्त बेचने व खाने का भी काम करता है। पुलिस की रेड में उसके पास से 22 ग्राम चूरापोस्त बरामद हुआ। पुलिस ने उसको मौके पर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मैनेजर होटल में आने वाले ग्राहकों को कथित तौर पर नशा सप्लाई करता है। उसके खिलाफ धोखाधड़ी, एनडीपीएस एक्ट, 14 साइरस एक्ट 1867/14 के तहत केस दर्ज किया गया है।

शबाब और कबाब की भी सुविधा देने का लालच देता था मैनेजर

दूसरे मामले में थाना मैहना के एएसआई मैप सिंह के मुताबिक, मोगा-लुधियाना रोड स्थित होटल लैंड मार्क में छापेमारी के गुरसेवक सिंह (शहीद भगत सिंह नगर) को गिरफ्तार किया गया। वह होटल में आने वाले ग्राहकों को शराब, शबाब और कबाब की सुविधा देने के नाम पर उनके मन में लालच पैदा करता था। साथ ही टैक्स बचाने के लिए रजिस्टर में एंट्री भी नहीं करता था। उसके खिलाफ धोखाधड़ी व 14 साइरस एक्ट 1867/14 के तहत केस दर्ज किया गया।

महिलाएं सप्लाई करता था मैनेजर: चौथे मामले में थाना सिटी साउथ के इंस्पेक्टर लक्ष्मण सिंह ने बताया कि मुखबिर ने सूचना दी कि नो नंबर न्यू टाउन स्थित कमल होटल में देहव्यापार करवाया जा रहा है। पुलिस ने होटल के मालिक मनोज कुमार व मैनेजर राहुल शर्मा के खिलाफ अनैतिक व्यापार निवारण कानून की धाराओं 3, 4, 5, 6, 7 के तहत केस दर्ज कर लिया।

होटल में देह व्यापार, मैनेजर औरतों की सप्लाई में भी लिप्त

तीसरे मामले में डीएसपी मनजीत सिंह ने बताया कि थाना सिटी-1 के क्षेत्र में स्थित होटल नूरमहल में छापामारी कर होटल मैनेजर मनजीत सिंह को गिरफ्तार किया गया। वह ग्राहकों से मोटी धनराशि वसूल कर होटल के कमरों में देह व्यापार करवा रहा था। वह देह व्यापार के लिए औरतें सप्लाई करता था। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर रेड मारी तो विभिन्न कमरों में महिलाएं और पुरुष मिले। पुलिस ने होटल मैनेजर के खिलाफ अनैतिक व्यापार निवारण कानून की धाराओं धारा 3, 4, 5, 6, 7 के तहत केस दर्ज किया गया।

रेड में मिले लड़के-लड़कियां और दो मैनेजर गिरफ्तार

पांचवें मामले में डीएसपी गुरदीप सिंह के मुताबिक, थाना सिटी साउथ के इलाके में पुरानी दशहरा ग्राउंड स्थित रूपमिलन होटल में मुखबिर की सूचना पर रेड करने पर वहां से लड़के-लड़कियां पकड़े गए। पुलिस ने होटल चलाने वाले दो मैनेजरों गुरप्रीत सिंह (सलीना) और लाडी (मोगा) को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ अनैतिक व्यापार निवारण कानून की धाराओं धारा 3, 4, 5, 6, 7 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...