पीड़ितों की सहायता:लड़कियों को हेल्पलाइन नंबर 112 और 181 के इस्तेमाल संबंधी किया जागरूक

मोगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला पुलिस ने छात्राओं को बताया थानों में स्थापित हेल्प डेस्क कैसे करेगा पीड़ितों की सहायता

पंजाब सरकार व पंजाब पुलिस की ओर से महिलाओं के साथ होने वाले जुर्म रोकने के लिए विभिन्न प्रकार के समय-समय पर उचित कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में महिलाओं को इंसाफ दिलाने के लिए हेल्पलाइन नंबर 112 व 181 इस्तेमाल संबंधी जानकारी दी गई। वुमेन हेल्प डेस्क से मिली जानकारी के अनुसार पंजाब पुलिस की एक खास मुहिम के तहत हेल्पलाइन नंबर के जरिए थाना स्तर पर वुमन हेल्प डेस्क स्थापित करके महिला मित्र के तौर पर महिला कर्मचारियों को तैनात किया गया है। जो कि 24 घंटे पहल के आधार पर औरतों और बच्चों के खिलाफ होने वाले संगीन व घरेलू अपराधों की रोकथाम संबंधी कार्रवाई करेंगे।

इसके साथ ही जिला पुलिस द्वारा वुमन आर्मी स्पेशल प्रोटेक्शन कार्ड में महिला कर्मचारियों को तैनात किया गया है। स्कूलों, बाजार भीड़ वाले स्थानों पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए अपनी ड्यूटी सही ढंग से निभा सके। डायरेक्टर जर्नल पुलिस, कम्यूनिटी अफेयर्स डिवीजन कम वुमेन एंड चाइल्ड अफेयर्स, पंजाब के दिशा-निर्देशों के अधीन एसएसपी ध्रुवमन एच निबंले के आदेश पर मोगा जिले के हर थाने में वुमेन हेल्प डेस्क के तौर पर महिला कर्मचारियों की तैनाती की गई है। कर्मचारियों की ओर से बुधवार को विभिन्न स्कूलों में सेमीनार लगाकर महिला विद्यार्थियों को हेल्पलाइन संबंधी जानकारी दी गई है। इसी कड़ी में तहत महिलाओं व युवतियों को परेशानी, अपने आप को असुरक्षित महसूस, पारिवारिक झगड़े, विवाहिता विवाद, छेड़छाड़ संबंधी जागरुक किया गया है। महिला या युवती द्वारा 112 व 181 हेल्पलाइन पर कॉल किए जाने के तुरंत बाद महिला पुलिस की ओर से फोन करने वाली पीडि़ता तक पहुंच करके तुरंत सहायता उपलब्ध कराने का प्रबंध किया गया।

खबरें और भी हैं...