किसान प्रशिक्षण शिविर का आयोजन:किसानों को धान व गेहूं के फसली चक्र से निकल नरमा, मक्का तेल बीज और दलहन वाली फसलों को अपनाने काे किया प्रेरित

फरीदकोट3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जागरूकता - कृषि विभिन्नता के प्रति किसानों को जागृत करने को लगाया किसान प्रशिक्षण शिविर

पंजाब कृषि और किसान भलाई विभाग द्वारा मुख्य जिला कृषि अधिकारी डाॅ. बलविन्दर सिंह के नेतृत्व में जमीन की गुणवत्ता बरकरार रखने व कृषि विभिन्नता अपनाने के प्रति किसानों को जागृत करने को ब्लाक फरीदकोट के गांव भागथला कलां में किसान प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया।

इस शिविर में करीब 70 किसानों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम के दौरान ब्लाक कृषि अधिकारी डाॅ. करनजीत सिंह गिल ने किसानों को धान व गेहूं के फसली चक्र से निकलकर नरमा, मक्का, तेल बीज और दलहन वाली फसलों को अपनाने की जरूरत पर बल दिया।

डाॅ. यादविन्दर सिंह ने किसानों को कीटनाशक का संयम से व जरूरत के अनुसार इस्तेमाल करने की जानकारी दी। उन्होंने धान, बासमती, नरमा, मक्का आदि फसलों में उर्वरक तत्वों के सही इस्तेमाल और बीमारियों की रोकथाम के सुझाव दिए। प्रशिक्षण अधिकारी डाॅ. जगसीर सिंह मौड़ ने किसानों को खुद अपनी जरूरत लायक बीज तैयार करने, कृषि संबंधी उत्पाद व औजार खरीदने से पहले खेती इनपुट खरीदने से पहले कृषि विशेषज्ञों की राय लेने और खाली स्थानों पर गुणकारी पौधे लगाने को प्रेरित किया।

सर्कल इंचार्ज डाॅ. बरिन्दर कौर ने किसानों को मिट्टी और पानी के सैंपल लेने के ढंग बताए गए और मिट्टी टेस्ट के आधार पर खादों का इस्तेमाल करने को प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम का मंच संचालन बलदेव कुमार ने किया। इस मौके पर किसानों द्वारा खेतीबाड़ी संबंधी किए गए सवालों के विशेषज्ञों ने उचित जवाब दिए। समागम मौके किसानों को खेती साहित्य भी बांटा गया।

खबरें और भी हैं...