पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

केस दर्ज:एनआरआई युवती की जाली फेसबुक आईडी बना किया बदनाम, केस

मोगा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाई की मौत के बाद दूसरी जगह ब्याही भाभी जायदाद में मांग रही थी हिस्सा, इसीलिए निकाला गुस्सा

पति की मौत के बाद दूसरे स्थान पर विवाहिता ने पहले विवाह से पैदा हुई बेटी के लिए उसके पहले ससुराल वालों से जायदाद में हिस्सा मांगा तो पहले परिवार वाले देवर को गुस्सा आ गया। उसने गुस्से में अपनी पत्नी, साढू व साढ़ू के दोस्त व उसके भाई की मदद से महिला की मौजूदा ससुराल वाली एनआरआई ननद की जाली फेसबुक आईडी बना उसकी ननद की बदनामी कर दी। महिला के मौजूदा ससुर की शिकायत व जांच के बाद पुलिस ने केस दर्ज किया है।

साइबर सेल की इंस्पेक्टर भूपिंदर कौर ने बताया कि जिला फिरोजपुर के गांव पंडोरी खत्रियां तहसील जीरा निवासी जगजीत सिंह 28 अगस्त 2019 को एसएसपी को दी लिखित शिकायत में आरोप लगाया था कि उसकी बहू प्रदीप कौर जिसकी पहले शादी डरोली भाई निवासी रघूबीर सिंह बोबी पुत्र शेर सिंह के साथ हुई थी। दस साल पहले अचानक रघुबीर सिंह की मौत हो गई। उसकी शेरसिंह के साथ जान पहचान होने के चलते उसने 7 साल पहले बेटे रमणदीप सिंह के साथ प्रदीप कौर की शादी करवा दी थी।

लेकिन प्रदीप कौर की पहली शादी से एक बेटी थी, जोकि हमारे साथ रह रही है। इस दौरान प्रदीप कौर ने अपनी बेटी के लिए पहले ससुराल वालों से उसके मृतक पति के हिस्से की जायदाद से हिस्सा मांगा तो गुस्साए शेर सिंह के बेटे रणधीर सिंह बिटू (जो मेरी बहू का देवर लगता था) व उसकी पत्नी वीरपाल कौर ने रंजिश के तहत शिकायतकर्ता की बेटी परमिंदर कौर निवासी कनाडा की सवा साल पहले बदनामी करने की साजिश बनाई।

रणधीर सिंह ने अपने साढू परमिंदर सिंह पिंदर निवासी जगरांव को अपने साथ लिया। परमिंदर सिंह पिंदर ने अपने दोस्त लुधियाना निवासी हरप्रीत सिंह के साथ मिलकर फर्जी फेसबुक आईडी बनाने के लिए हरप्रीत सिंह के भाई गुरप्रीत सिंह के मोबाइल नंबर का इस्तेमाल किया था। मोगा में एक ढाबे पर बैठकर परमिंदर सिंह व हरप्रीत सिंह ने फर्जी फेसबुक आईडी लाडी संघा के नाम बनाई थी।

शिकायतकर्ता का आरोप है कि कनाडा निवासी उसकी बेटी की फोटो फर्जी फेसबुक आईडी पर डालकर नीचे गलत शब्दावली इस्तेमाल किया गया। इस बात से दुखी होकर एसएसपी को शिकायत दी थी। एसएसपी ने मामले की जांच साइबर सेल के डीएसपी को सौंप दी थी। जांच अधिकारी द्वारा लंबी जांच के उपरांत परमिंदर सिंह व हरप्रीत सिंह के खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 66डी, 67 के अलावा 294 व 509 के तहत केस दर्ज किया है।

खबरें और भी हैं...