पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भ्रष्टाचार:अधिकारियों ने भूमाफियाओं को फायदा पहुंचाने के लिए एक ही दिन में कर दीं रजिस्ट्री व इंतकाल

हरबिंदर सिंह भूपाल | मोगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनएच-05 बी के लिए जमीन अधिग्रहण मामले में नियमों के विपरित काम का खुलासा

पहले एनएच-71 के फोरलेन के समय मोगा जिले में जमीन एक्वायर करने में हुई धांधली की जांच अपराध शाखा लुधियाना की ओर चल रही है और अब दिल्ली जम्मू-कटड़ा एनएच 105बी के लिए मोगा जिले के 36 गांवों की जमीन एक्वायर होने के मामले में भी भ्रष्टाचार के छींटे उठने शुरू हो गए हैं। इसके लिए जिला माल विभाग ने पहले नोटिफिकेशन 10 जनवरी 2020 को दूसरा 21 व तीसरा नोटिफिकेशन 22 मई 2020 को

जारी किया था। इस संबंधी भ्रष्टाचार की बात सामने आने से इसकी प्रक्रिया को एक बार रोक दिया गया था परंतु भू-माफिया के साथ मिलकर माल विभाग के अधिकारियों ने जो काम किया है, वह हैरतअंगेज है और वही उन्हें फंसा सकता है। इस संबंधी जिला माल अधिकारी भी नोटिफिकेशन जारी होने का पुष्टि करते हैं।

विजिलेंस जांच में फंसा सकती है अधिकारियों को उनकी तेजी

माल विभाग के सूत्रों के अनुसार मोगा जिले के गांव सिंघावाला, धल्लकलां, धर्मकोट आदि के गांवों की जमीन जो एनएच 105बी के तहत आती है, उसमें माल अधिकारियों ने 15 दिन में जमीन की तकसीम किया है। उसकी रजिस्ट्री करने के बाद उसी दिन इंतकाल भी कर दिया। यानि यह काम एक ही दिन में निपटा दिए। यहां बता दें कि जमीन की तकसीम माल विभाग की अदालत में अदालती प्रोसीजर के तहत होती है, जिसमें कम से कम 3-4 तारीखें पड़ती हैं और आम तौर पर लोगों को कई महीनों या एक साल के बाद ही इंसाफ मिल पाता है। जबकि भू-माफिया के लिए यह काम 15 दिनों ही निपटा दिया, हालांकि इस मामले में अखबार में

21 दिन का नोटिस भी देना होता है और फिर तकसीम का फैसला आता है। इसके बाद रजिस्ट्री कराने से पहले एक महीना फैसले को चैलेंज के लिए इंतजार करना पड़ता है। फिर रजिस्ट्री के लिए ऑनलाइन तारीख लेनी पड़ती है और एक रजिस्ट्री कराने वाले आम इंसान को सुबह से शाम तक इंतजार करना पड़ता है। इंतकाल माल अधिकारी ने जायदाद के पास जाकर जांच करने के बाद करना होता है, जो पटवारी से कानूनगो,

कानूनगो से तहसीलदार या नायब तहसीलदार के पास होकर वापस तहसीलदार या नायब तहसीलदार से कानूनगो और कानूनगो से पटवारी के पास कागजात आने के बाद रजिस्टर पर इंतकाल चढ़ाया जाता है और फिर इसकी नकल पटवारी जारी करता है। आम आदमी को रजिस्ट्री के बाद एक या दो सप्ताह के बाद ही इंतकाल की कापी मिलती है। इतने सारे प्रोसीजर एक ही दिन में निपटाने जादू के तुल्य है।

एक ही दिन में रजिस्ट्री व इंतकाल होना संभव नहीं है : एडवोकेट गोबिंद शर्मा

यह जानकारी एडवोकेट गोबिंद शर्मा ने भास्कर को दी। उन्होंने कहा कि एक ही दिन में रजिस्ट्री व एक ही दिन में इंतकाल मंजूर होना संभव नहीं है। अब माल अधिकारियों के पास इन जमीनों को कमर्शियल में बदलने के मामले लटक रहे हैं। यह बात सामने आने के बाद इसकी जांच विजिलेंस के पास आ गई है। इसकी पुष्टि डीएसपी विजिलेंस केवल कृष्न ने करते हुए कहा कि अभी जांच चल रही है, कुछ कहा नहीं जा सकता।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें