पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फैसला:25 को दशहरा कमेटी नहीं करेगी रावण कुंभकर्ण, मेघनाद के पुतलों का दहन

मोगा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले कई वर्षों से शहर में दशहरा पर्व के त्योहार से पहले राम बारात की शोभायात्रा निकालने के बाद, दशहरा पर्व मनाकर, भगवान राम का वनवास खत्म होने उपरांत अयोध्या लौटने की खुशी में भरत मिलाप आदि समागम करवाने वाली संस्था इस वर्ष दशहरे पर्व पर कोई भी समागम नहीं करेगी। इस वर्ष यह समागम शहर में नहीं होंगे व शहरवासी दशहरा पर्व पर जलने वाले रावण कुंभकर्ण व मेघनाथ के जलने वाले पुतलों को नही देख सकेंगे।

दशहरा कमेटी द्वारा इस वर्ष बड़े समागम न करवाने का फैसला लेते हुए सरकार द्वारा जारी हिदायतों की पालना करते हुए सादगी के साथ यह त्योहार मनाने का फैसला लिया गया है। इस त्योहार को मनाने के लिए दशहरा कमेटी की बैठक नगर निगम के पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर अनिल बांसल की अगुवाई में हुई।

बैठक को संबोधित करते सचिव ओमकार सिंगला ने बताया कि 17 अक्टूबर को सुबह 9 बजे पुरानी दाना मंडी में झंडा पूजन करके संकीर्तन किया जाएगा। 25 अक्टूबर को दशहरा पर्व पर कमेटी की ओर से पुरानी दाना मंडी में भगवान श्रीराम का स्वरूप सजाकर भंडारा लगाया जाएगा। जिसमें कोई भी श्रद्धालु अपने घरों में बीजी (खेत्री) को भगवान श्रीराम स्वरूप के आगे चढ़ा सकता है।

खबरें और भी हैं...