पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सड़क दुर्घटना में घायल मां-बेटे की मौत:1 जुलाई को हादसे वाले दिन मौके पर ही 3 लोगों की चली गई थी जान

मोगा25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक सप्ताह पहले गलत दिशा से आई गाड़ी ने आई-20 कार को टक्कर मार दी थी। हादसे में घायल 4 लोगों में से दो और लोगों की मौत हो गई है। जबकि हादसे वाले दिन ही तीन लोगों की मौत हो गई थी। जिन घायलों की मौत हुई उनमें मां-बेटा शामिल हैं। थाना धर्मकोट के एएसआई रछपाल सिंह ने बताया कि 1 जुलाई कि सुबह 5 बजे गांव जलालाबाद के मेन चौक में सड़क हादसे में घायल मीरा 49 साल निवासी जीरा की इलाज के दौरान मंगलवार की रात को मोगा के मेडिसिटी अस्पताल में मौत हो गई।

मामले की जानकारी पुलिस को मिलते ही पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लेकर सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया गया। मृतका के दामाद अजय कुमार के बयान पर कार्रवाई करते हुए बुधवार को शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया।

इससे पहले सड़क हादसे में घायल अमनदीप सिंह वासी जीरा की 4 जुलाई को फरीदकोट के मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मामले की जानकारी पुलिस को मिलने पर 5 जुलाई को फरीदकोट के मेडिकल कॉलेज में मृतक अमनदीप सिंह के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया था। जांच अधिकारी ने बताया कि 1 जुलाई को सड़क हादसे में अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है। सड़क हादसे में बचे अजय कुमार व उसकी साली सीता शामिल हैं।

गौरतलब है कि श्री मुक्तसर साहिब जीरा निवासी अजय कुमार अपनी पत्नी पिंकी व 5 साल की बेटी पीहू के साथ 30 जून को अपने ससुराल जीरा में आई-20 कार से आया था। 1 जुलाई को अजय कुमार पत्नी के बेटी के साथ सास मीरा, साला अमनदीप सिंह, दो सालियां अंजली व सीता के साथ कार से नकोदर जाने के लिए निकला था।

हाईवे पर पड़ते गांव जलालाबाद के चौक में जैसे ही कार पहुंची इतने में ओपेरा कार से आई-20 कार की साइड लगने से टक्कर हो गई थी। इससे कार में सवार पिंकी, पीहू व अंजलि की मौत हो गई थी। हादसे को 7 दिन बीतने पर भी आरोपी कार चालक पुलिस की गिरफ्त से दूर है। जांच अधिकारी यशपाल सिंह ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...