प्राइवेट करने की नीतियों के खिलाफ संघर्ष:1977 में रीगल सिनेमा कांड में मारे गए छात्रों को पंजाब स्टूडेंट यूनियन ने दी श्रद्धांजलि

मोगा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृत छात्राओं को श्रद्धांजलि देते पंजाब स्टूडेंट यूनियन के नेता। - Dainik Bhaskar
मृत छात्राओं को श्रद्धांजलि देते पंजाब स्टूडेंट यूनियन के नेता।

पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन ने पांच व सात अक्तूबर, 1977 को मोगा रीगल सिनेमा में मारे गए विद्यार्थियों की बरसी मनाई। इस मौके पर रीगल सिनेमा में पंजाब स्टूडेंट यूनियन का ध्वज लहराया गया। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष रणबीर रंधावा, जिलाध्यक्ष मोहन सिंह औलख ने कहा कि 1977 की विद्यार्थी लहर आज भी हमारे लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। आज जब सरकारों ने लोगों से उनके हक छीन लिए हैं, उनको शिक्षा, सेहत, सड़कों व बिजली पानी प्राइवेट करने की नीतियों के खिलाफ संघर्ष की प्रेरणा हमारा इतिहास ही दे सकता है। जब ऐतिहासिक इमारतों को एक साजिश के तहत खत्म किया जा रहा है तो इनको सभी को संभालने की जरूरत है।

पीएसयू पिछले कई वर्षों से मांग करती आ रही है ,कि सिनेमा में देश भगत यादगारी हाल जालंधर की तरह यादगारी हाल बनना चाहिए। जिसको लोक हितों के लिए उपयोग किया जा सकें। इस मौके पर नौजवान भारत सभा के कर्मजीत मानूके, राजेन्द्र सिंह राजेयाना, पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन की नेता कमल बाघापुराना ने कहा कि पीएसयू तथा एनबीएस ने मांग रखी कि ट्रस्ट में विद्यार्थियों, नौजवानों को भी शामिल किया जाए, जमीनें छीनने के लाए कानून रद्ध किए जाए, खेती विरोधी बिलों को खारिज किया जाए।

उन्होंने कहा कि लेबर कानूनों में संशोधन करके लेबर कोड लाए गए हैं तथा मजदूरों के हकों को छीना जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट को अपनी जेब में डालकर सरेआम अवहेलना उड़ाई जा रही है। इस मौके पर पीएसयू के प्रदेश नेता व संयुक्त किसान मोर्चे के नेता निर्भय सिंह ढुडीके, पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन के प्रदेश सीनियर उपाध्यक्ष हरदीप कौर कोटला, उपाध्यक्ष अमर क्रांति, महासचिव अमनदीरप सिंह, प्रदेश वित्त सचिव बलजीत सिंह धर्मकोट, प्रदेश नेता मंगलजीत, प्रदेश नेता धीरज कुमार, केशव आजाद आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...