मांगों को ले कर संघर्ष:पंजाब यूटी मुलाजिम ने पंजाब सरकार का पुतला फूंका

मोगा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब यूटी मुलाजिम और सांझे फ्रंट की तरफ से लगातार अपनी मांगों को ले कर संघर्ष किया जा रहा है और पटियाला और मोहाली में बड़ी रैलियां की जा चुकीं हैं। इस संबंधी कुलबीर सिंह ढिल्लों ने बताया कि 11 सितंबर की मोहाली रैली बाद में 20 को मुख्य मंत्री के साथ मीटिंग दी गई थी जो मुख्य मंत्री के इस्तीफे कारण नहीं हो सकी, जिस के चलते सांझे फ्रंट की तरफ से 25 सितंबर को मोरिंडा में डेपुटेशन के तौर पर मुख्य मंत्री को मिलने का प्रोग्राम था परंतु मुख्य मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी के दिल्ली होने के कारण ओएसडी जसवीर सिंह ने भरोसा दिया कि सांझे फ्रंट को मीटिंग का न्योता दिया जायेगा, क्योंकि सांझे फ्रंट की तरफ से 2 अक्तूबर से मोरिंडा में पक्का मोर्चा लगाया जाना था परंतु 3 अक्तूबर की मीटिंग भी बेनतीजा रही। इस लिए मुलाजिम और पेंशनर मांगों के न माने जाने के रोष के तौर पर सांझे फ्रंट की तरफ से 5 से 8 अक्तूबर तक ज़िला स्तर पर मुख्य मंत्री के पुतले फूंकने का प्रोद्राम बनाया गया था।

इसी कड़ी के तहत वीरवार को बस अड्डा में रैली करने के बाद मेन चौक तक रोष प्रदर्शन किया गया। बाद में मुख्यमंत्री पंजाब का पुतला फूंका गया। वक्ताओं ने बताया कि अगर सरकार मुलाजिम मांगों का तुरंत निपटारा नहीं करती तो 16 अक्तूबर को मुख्य मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी जो कि अपने आप को आम आदमी होने का नाटक कर रहा है, के शहर मोरिंडा में झंडा मार्च किया जायेगा और मोरिंडा में पक्का मोर्चा दिन रात का लगाया जायेगा। सांझे फ्रंट की पुरानी मांगों पे -कमीशन की तरुटियां दूर करके लागू करना, कच्चे मुलाजिमों पक्का करना, पुरानी पैंशन स्कीम लागू करना, मान भत्ता मुलाजिमों और कम से कम मेहनताना लागू करने को ले कर लगातार संघर्ष के रास्ते पर है। इस मौके लखीमपुर यूपी में अपनी कीमती जानें गंवा चुके किसानों के लिए दो मिनट का मौन धारण करके श्रद्धांजलि दी गई।

इस मौके पर जगदीश सिंह चाहल, कुलबीर सिंह ढिल्लों, भजन सिंह गिल, सुरिंदर राम कुस्सा, सुरिंदर सिंह मोगा, इन्द्रजीत सिंह भिंडर, नैब सिंह, चमकौर सिंह डगरू, सुरिंदर सिंह मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...