पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • Moga
  • Railway Minister Is Demanding For The Safety Of The People And Farmers MSP, Give MSP, There Will Be No Need For Any Security: Bhagwant

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि कानून:रेलमंत्री लोगों की सुरक्षा और किसान एमएसपी की कर रहे मांग एमएसपी दे दो किसी भी सुरक्षा की जरूरत नहीं रहेंगी : भगवंत

मोगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रणसींह कलां में बैठक की, बोले-कृषि कानून खेती कारोबार से जुड़े हर व्यक्ति के लिए घातक

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने बुधवार को रेस्ट हाउस में कहा कि रेल मंत्री बहुत सारे लोगों की सुरक्षा की मांग कर रहे हैं, जबकि किसान केवल एमएसपी की मांग कर रहा है। उसे एमएसपी दे दो किसी सुरक्षा की जरुरत नहीं रहेगी। भगवंत मान ने कहा कि केवल बीजेपी वाले ही इंटेलिजेंट हैं। बाकी सब पार्टीयां, किसानी माहर लेख लिख रहे हैं, वो कम इंटेलिजेंट हैं। उन्होंने कहा कि यह कृषि कानून केवल किसानों के लिए नहीं, बल्कि हर धंधे वाले के लिए घातक हैं। खास कर जो किसानी से जुड़े धंधे में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब में अमन शांती को भंग करके केंद्र सरकार किसानों को जिम्मेदार ठहराना चाहता है, परंतु किसानों का संघर्ष शांतमय है।

भगवंत मान गांव रणसींह कलां में ग्राम पंचायत के आवाह्न पर उनसे बैठक करने आए थे। इसके बाद शाम को वो मोगा में सरकारी रेस्ट हाउस में पहुंचे और प्रेस को मुखातिब हुए। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब सरकार को अपनी एमएसपी का कानून बनाना चाहिये। उन्होंने कहा कि नीयत साफ होनी चाहिए सब कुछ हो सकता है। उन्होंने कहा कि पंजाब में अगर आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी तो सबसे पहले उनकी कलम किसानों के पक्ष में चलेगी। मान ने कहा कि मोदी इस समय तानाशाह बन रहा है और अन्य किसी पार्टीयों से राय लेने की बजाए स्वंय फैसले ले रहा है। उन्होंने कहा कि अहंकार की उमर ज्यादा नहीं होती। इसलिये मोदी सरकार को किसानों के साथ बात करनी ही होगी।

रणसिंह कला गांव में बुलाई ग्राम सभा को संबोधित करते भगवंत मान ने कहा कि यह समागम राजनीतिक नहीं, बल्कि इसमें सभी पार्टियों के सदस्य, समूह किसान जत्थेबंदियों के सदस्य हिस्सा लेते हैं। इस ग्राम सभा में गांव के सभी लोग आ सकते हैं जिस व्यक्ति की वोट बनी होती है वह इस ग्राम सभा का सदस्य है। ग्रामसभा की सारी प्रक्रिया को पंचायत के कार्य रजिस्टर में लिखा जाता है जो एक कानूनी दस्तावेज बन जाता है। जो सुप्रीम कोर्ट में भी यह दस्तावेज परवान किए जाते हैं।

क्योंकि यह सीधे तौर पर लोगों की सलाह व मशवरा होती है। भगवंत मान ने कहा कि अगर किसी गांव की पंचायत का फैसला गांव वासियों को सही नहीं लगता या पंचायत द्वारा गलत प्रस्ताव पारित कर दिया जाता है। तो गांववासी ग्राम सभा बुलाकर प्रस्ताव पर विचार चर्चा कर सकते हैं व गांववासी ही पंचायत का फैसला बदल सकते हैं। क्योंकि ग्रामसभा पंचायत से बड़ी है जिसको कोई अनदेखा नहीं कर सकता। गांवों में ग्राम सभा के द्वारा कृषि कानून के खिलाफ पाए प्रस्ताव देश के अन्नदाता किसान को बचा सकते हैं। यह कृषि कानून किसान विरोधी ही नही बल्कि लोक विरोधी भी है।

इस अवसर पर पूर्व सांसद साधु सिंह, सरपंच कुलदीप कौर, विधायक मनजीत सिंह बिलासपुर, महल लकला से विधायक कुलवंत सिंह पंडोरी, जिलाअध्यक्ष हरमन सिंह, नवदीप सिंह संघा, एडवोकेट नसीब सिंह बाबा, अमृतपाल सिंह, संजीव कोछड़, प्रीतइंद्र सिह मिंटू आदि उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें