मोगा में पकड़े:धार्मिक स्थान थे टारगेट, 2 ग्रेनेड व दो पिस्तौल के साथ तीन गिरफ्तार

मोगा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वीरवार रात को नाकाबंदी के दौरान सीआईए स्टाफ पुलिस ने तीन गैंगस्टर्स को अवैध असलाहा के साथ गिरफ्तार किया है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक मामला इसलिए और गंभीर माना जा रहा है कि गैंगस्टर्स कनाडा में बैठे ए कैटेगरी के गैंगस्टर अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला के संपर्क में थे।

उनकी लगातार गैंगस्टर डल्ला से बातचीत हो रही थी। पुलिस के मुताबिक वीरवार शाम मेहना ड्रेन पर लगाए गए विशेष नाके के दौरान जब चुगामा की ओर से आ रही पिकअप को रोकने के लिए पुलिस पार्टी ने इशारा किया, तो गाड़ी चालकों ने गाड़ी भगाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने बैरिकेडिंग की मदद से गाड़ी को रोक लिया।

शुक्रवार को एसएसपी चरणजीत सिंह सोहल ने बताया पुलिस ने गाड़ी सवार गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी निवासी गांव शादी वाला के कब्जे 9 एमएम की पिस्तौल समेत छह रौंद जिंदा, बीरेंद्र सिंह उर्फ बिंदा वासी महू से पिस्तौल समेत एक मैगजीन व 12 जिंदा कारतूस, बलजीत सिंह वासी फतेहगढ़ पंजतूर से 2 हैंड ग्रेड बरामद किए। आरोपियों पर अब आर्म्स एक्ट, बम एक्ट और कातिलाना हमले का केस दर्ज किया गया है।

एसएसपी ने बताया गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी, वीरेंद्र सिंह उर्फ विंदा व बलजीत सिंह से पूछताछ में पता चला है कनाडा में बैठे गैंगस्टर अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डाला के साथ इनके संबंध हैं। अर्शदीप इन लोगों को पैसे का लालच देकर काम करवाता है। आरोपियों ने अर्शदीप सिंह के इशारे पर किसी धार्मिक स्थान को टारगेट करना था। आरोपी गुरप्रीत के खिलाफ पहले भी थाना भिखीविंड में धारा 307 आईपीसी व असला एक्ट के तहत केस दर्ज है। विदेशों में बैठे गैंगस्टर्स स्थानीय लोगों के जरिए पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...