खाद्य पदार्थों की जांच:16 खाद्य पदार्थों की सैंपलिंग, 20 किलो पेठा नष्ट करवाया

मोगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेहत विभाग की टीम ने ग्रामीण क्षेत्र के हलवाइयों की दुकानों में रखे खाद्य पदार्थों की जांच की

फूड सेफ्टी एक्ट को सख्ती से लागू कराने के लिए सेहत विभाग की टीम ने बुधवार को ग्रामीण क्षेत्र के हलवाइयों की दुकानों की जांच की। ज्यादातर जगह टीम ने फूड सेफ्टी एक्ट के उलंघन को पाया तो उन्होंने दुकानदारों को चेतावनी देते हाइजीन का खास ध्यान रखने के निर्देश दिए। टीम ने 16 खाद्य पदार्थों के सैंपल लिये और एक दुकान से 20 किलो पेठे की मिठाई नष्ट कराई और एक अन्य दुकान से रसगुल्ले व गुलाब जामुन के सैंपल लिए। फूड सेफ्टी कमिश्नर मनजिंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि फूड सेफ्टी अधिकारी नवदीप के साथ शहर के विभिन्न इलाकों में खाने-पीने के सामान के 8 सैंपल हासिल किए गए थे।

सुपर स्टोर से सॉस एंड रसगुल्ला, विशाल डेयरी मोगा, दाल, राजमा, चना व मसाला, केडीएच ब्रांडेड टी ,यैलो मसाला के सैंपल लिये गये। वहीं 8 सैंपल ग्रामीण क्षेत्र से लिये गये। कुल 16 सैंपल लिये गये हैं। मानूके गांव से मस्टर्ड ऑयल, गांव जवाहर सिंह वाला से हलवाई की दुकान से लड्डू के सैंपल, निहाल सिंह वाला से हल्दी पाउडर, लाल मिर्ची पाउडर, गांव नत्थूके से सोडा व सिरका के सैंपल लिए गए हैं। फूड सेफ्टी अधिकारी ने बताया कि खाने पीने के सामान के हासिल किए सैंपल को सरकारी लैब में भेजा जाएगा। सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। एक दुकानदार द्वारा 20 किलो पेठे की पुरानी मिठाई रखी हुई थी, जिसे फूड सेफ्टी टीम द्वारा मौके पर ही नष्ट कर दिया गया था। इसके अलावा गांव जलालाबाद स्थित हलवाई की दुकान की शिकायत थी कि उसके रसगुल्ले ठीक नहीं है। टीम द्वारा बुधवार को मौके पर जाकर रसगुल्ले व गुलाब जामुन के सैंपल लिए साथ ही दुकानदार को जरूरी हिदायतें भी जारी की गई हैं।

खबरें और भी हैं...