संघर्ष की चेतावनी:एससी/बीसी के वफद ने मांगों को लेकर डीईओ को मांगपत्र सौंपा

मोगा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एससी/बीसी अध्यापक यूनियन पंजाब ज़िला इकाई की तरफ से ज़िला प्रधान हरविंदर सिंह मार्शल और ज़िला मुख्य सचिव वीर सिंह के नेतृत्व में एक वफद ज़िला शिक्षा अफ़सर एलिमेंट्री वरिंदर पाल सिंह को मिला।

मीटिंग में एससी/बीसी अध्यापक यूनियन के नेताओं ने ज़िला शिक्षा अफ़सर एलिमेंट्री को जानकारी देते हुए बताया कि पिछले कई सालों से प्राइमरी कैडर में एचटी और सीएचटी की तरक्कियों में अनुसूचित जाति के साथ भेदभाव किया जाता रहा है आरक्षण और रोस्टर प्रणाली को एक तरफ रखा जाता रहा है।

जत्थेबंदी ने मांग की कि आरक्षण और रोस्टर प्रणाली को ध्यान में रखते हुए पिछला अनुसूचित जाति का बनता बैकलाग पहले पूरा किया जाये और बाद में एचटी और सीएचटी की प्रमोशन की जाएं। जत्थेबंदी ने चेतावनी भी दी कि जब तक अनुसूचित जाति का बनता बैकलाग पूरा नहीं किया जाता जत्थेबंदी उतनी देर नई प्रमोशन नहीं करने देगी और संघर्ष शुरू करेगी। जत्थेबंदी के नेताओं की बात ध्यान से सुनने के बाद जिला शिक्षा अफ़सर एलिमेंट्री की तरफ से जत्थेबंदी के नेताओं को भरोसा दिया गया कि उनका बैकलाग में बनता कोटा उनको पहल के आधार पर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...