रैली का आयोजन:सुखबीर ने कहा- फसलों का बीमा होगा, नुकसान होने पर प्रति एकड़ 50 हजार किसान को मिलेंगे

मोगाएक महीने पहलेलेखक: हरबिंदर सिंह भूपाल
  • कॉपी लिंक
रैली में स्टेज पर बैठे एसजीपीसी के सदस्य, अकाली दल व बसपा के नेता। - Dainik Bhaskar
रैली में स्टेज पर बैठे एसजीपीसी के सदस्य, अकाली दल व बसपा के नेता।
  • शिअद की 100वीं वर्षगांठ पर किली चाहलां गांव में 6 घंटे चली रैली
  • पुलिस ने मोगा-लुधियाना हाईवे रखा बंद, रैली संपन्न होने पर 25 किलोमाटर तक चार घंटे लगा रहा जाम

मोगा के गांव किली चाहलां में शिरोमणि अकाली दल ने 100वीं वर्षगांठ मनाने के लिए मंगलवार को रैली की। इस दौरान सुखबीर बादल ने कहा कि अकाली-बसपा सरकार बनी तो फसलों का बीमा करवाया जाएगा और नुकसान होने पर प्रति एकड़ 50 हजार रुपए किसानों को दिया जाएगा। इधर, रैली को लेकर जिला पुलिस ने मोगा-लुधियाना हाईवे बंद कर ट्रैफिक को डायवर्ट कर दिया।

रैली के समापन के बाद वापस लौट रहे वाहनों के कारण 4 घंटे तक जाम लगा रहा। बता दें कि अकाली दल के प्रबंधकों ने रैली को सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक का समय रखा था परंतु वक्ताओं के लंबे भाषण के चलते रैली शाम 4 बजे तक तक चली। पार्टी प्रवक्ता डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने बोलने का समय न मिलने पर माफी मांगी।

स्टेज पर लगे पोस्टर में जहां पार्टी के सरपरस्त परकाश सिंह व पार्टी प्रधान सुखबीर सिंह बादल के बड़े चित्र लगे, वहीं 1920 से स्थापित हुए अकाली दल के बाकी प्रधानों के चित्र काफी छोटे आकार में थे। रैली के समापन के बाद जब लोग जाने लगे तो रैली स्थल से मोगा तक 25 किलोमीटर तक जाम लग गया। रैली में बिक्रम सिंह मजीठिया, जत्थेदार तोता सिंह, बरजिंदर सिंह बराड़, यूथ विंग के राष्ट्रीय प्रधान बंटी रोमाना, जिला प्रधान (शहरी) प्रेम चंद, तीर्थ सिंह उपस्थित थे।

सुखबीर बोले-2004 के बाद भर्ती हुए मुलाजिमों के लिए भी पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाएगी

सुखबीर सिंह बादल ने एलान किया कि 2004 के बाद भर्ती हुए मुलाजिमों के लिए भी पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाएगी। वहीं सभी को मुफ्त बिजली देने की बात की। बहुजन समाज पार्टी के पंजाब-हरियाणा व यूपी प्रभारी रणबीर सिंह, सतीश मिश्रा ने रैली को संबोधित किया।

इस दौरान अकाली नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने घोषणा की पंजाब को दिल्ली मॉडल नहीं श्री आनंदपुर साहिब मॉडल बनाया जाएगा, जिसमें गुरु पंथ का मॉडल होगा। जिसमें गुरुओं की परंपरा के अनुसार रंगरेटे गुरु के बेटे का फलसपा होगा।

खबरें और भी हैं...