पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसडीएम को मांगपत्र सौंप अंडरब्रिज बनाने की मांग:नेशनल हाईवे पर रोड क्रॉस करते तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर गाड़ी की चपेट में आने से महिला की मौत, परिजनों ने लगाया जाम

मोगा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गांव डाला में किराने की दुकान से सामान लेकर वापस घर लौट रही 40 साल की महिला हाईवे पार करते समय तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर गाड़ी की चपेट में आने से मौके पर ही मौत हो गई। महिला की मौत के बाद गुस्साए गांव वालों ने शव के साथ नेशनल हाईवे 95 काे दोनों ओर से बंद कर दिया, जिससे 4 घंटे यातायात अवरुद्ध रहा। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस के बड़े अधिकारी व एसडीएम मौके पर पहुंचे। उनके द्वारा गांववालों काे मांगों संबंधी आश्वासन देने पर गांव वालों ने धरना उठा लिया। पुलिस ने मृतका के परिजनों के बयान पर अज्ञात फॉर्च्यूनर गाड़ी चालक के खिलाफ केस दर्ज करके शव को सरकारी अस्पताल पहुंचा दिया।

वहीं, थाना मैहना के एएसआई नैब सिंह ने बताया कि गांव डाला निवासी बूटा सिंह ने पुलिस को दिए बयान में आरोप लगाया कि उसकी पत्नी गुड्डी कौर सोमवार की शाम को लगभग 7:30 बजे सड़क की दूसरी ओर एक दुकान से कुछ सामान लेने के लिए गई थी। वह सामान लेकर वापस लौटते समय नेशनल हाईवे 95 पर बने पुल वाली सड़क क्रॉस कर रही थी।

इतने में बरनाला से बुघीपुरा की ओर आ रही तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर गाड़ी ने उसकी पत्नी को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में उसकी पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। जैसे ही हादसे के बारे में उसे व गांव वालों को पता चला तो गुस्साए गांववालों ने दोनों ओर से पुल बंद कर रोड जाम लगा दिया।वहीं, जांच अधिकारी ने बताया कि मृतका के पति के बयान पर फॉर्च्यूनर गाड़ी के अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज करने के बाद शव का मंगलवार की शाम को सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया। मृतका की कई साल पहले शादी होने के बावजूद भी कोई बच्चा नहीं हुआ था।

एसडीएम ने समस्या के समाधान का दिया भरोसा

गांव डाला के लोगों का कहना है कि नेशनल हाईवे 95 पर बने पुल के चलते गांव वालों को सड़क के एक तरफ से दूसरी तरफ जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि हाईवे पर आने वाली गाड़ियों की रफ्तार काफी तेज होने के चलते उनको काफी टाइम गाड़ियों के क्रॉस करने के बाद सड़क पार करनी पड़ती है। ऐसे में काफी समय बर्बाद हो जाता है।

स्कूल होने के चलते बच्चों को सड़क से एक से दूसरी तरफ जाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं, गांव डाला के लोगों ने नेशनल हाईवे 95 पर लगाए धरने की जानकारी मिलते ही पुलिस के बड़े अधिकारी समेत एसडीएम सतवंत सिंह मौके पर पहुंचे। उनके द्वारा गांव वालों की समस्याओं को गंभीरता से सुनने के बाद उनकी समस्याओं का जल्द से जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया। गांव वालों ने प्रशासन के आश्वासन के बाद 4 घंटे बाद धरना खत्म कर दिया और शव को सरकारी अस्पताल पहुंचाया।

खबरें और भी हैं...