विरोध / श्रम कानून में संशोधन के खिलाफ कच्चे कर्मियों ने किया रोष प्रदर्शन

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:57 AM IST

नथाना. जीएचटीपी कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन द्वारा गुरु हरगोबिंद थर्मल प्लांट लहरा मोहबत के मेन गेट पर रोष धरना दिया गया। धरने दौरान राज्य एवं केंद्र सरकार की नीतियों की निंदा करते हुए कहा गया कि मोदी सरकार और विभिन्न राज्यों की सरकारों ने कोरोना वायरस की आड़ में किरती वर्ग पर राजसी एवं आर्थिक हमले कर 8 घंटों की लेबर की जगह 12 घंटे काम की लेबर कर कानून बना दिया है।

नेताओं कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने कोरोना वायरस बचाव के बहाने लोगों पर थोपे गए गैर जम्हूरी जाबर लाकडाउन द्वारा किरती मजदूरों को भूखमरी, शारीरिक कमजोरी और अन्य बीमारियां और खुदकुशी की ओर धकेला जा रहा है।

उन्होंने बताया कि आर्थिक पैकेज के नाम पर सरमाएदारों को खजाना लुटाया जा रहा है और समूह विभाग मुकंमल तौर पर निजीकरन की ओर ठोस नीती तहत बढाए जा रहे हैं। इस मौके नौजवान भारत सभा के नेता अमनदीप कौर, पंजाब खेत मजदूर यूनियन नेता गुरदित सिंह,ठेका मुलाजिम पावरकाॅम के मलकीत सिंह, जगसीर सिंह भंगू महा सचिव, कुलदीप सहोता, परमजती मेहराज, बलजिंदर मान, लछमण रामपुरा, निर्मल सिंह और जगतार कोटडा ने संबोधन किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना