पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

काेराेना अपडेट:28 नए पॉजिटिव केस मिले, पैस्को इंस्टीट्यूट में आइसोलेशन वार्ड तैयार

बठिंडा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 5256 लाेग दे चुके वायरस काे मात, अब 372 एक्टिव केस

कोरोना काल में बठिंडा जिले ने 134 नागरिकों को हमेशा के लिए खो दिया। महामारी ने किन्हीं परिवारों से बुजुर्गों का साथ तो किसी के घर का मुखिया छीन लिया। किसी की पत्नी चल बसी तो किन्हीं बच्चों ने मां का आंचल खो दिया। भयावह आंकड़े चेता रहे हैं। जिला प्रशासन के अनुसार 25 जून से 16 अक्टूबर तक 134 संक्रमितों की मौत हुई है। इनमें 99 मरीज ऐसे थे जोकि पहले से दिल, उच्च रक्तचात, मोटापा, श्वास रोग व अन्य बीमारियों से जूझ रहे थे।

करीब 35 मरीजों को कोरोना के अलावा अन्य कोई बीमारी नहीं थी। शनिवार को 62 वर्षीय दर्शना देवी वासी शीश महल कालोनी की लाइफ लाइन अस्पताल में इलाज दौरान मौत हो गई। पिछले कुछ दिनों से वे तेज बुखार, खांसी व इंफेक्शन से पीड़ित थी। इस दौरान हालत गंभीर होने पर शनिवार दोपहर उनकी मौत हो गई। फिलहाल जिला प्रशासन की ओर से अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। वहीं शनिवार को 28 नए कोरोना संक्रमितों के साथ कुल संक्रमित की संख्या 6607 तक पहुंच गई है।

हालांकि राहत देते आंकड़े ये कि 5256 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। एक्टिव केस 372 हैं। आज नए केसों की संख्या 28 और 39 डिस्चार्ज हुए हैं। उधर पंजाब सरकार की ओर से 5 अक्टूबर को लिखित पत्र जारी करते हुए लेवल वन कैटेगरी वाले सभी अस्थाई कोविड सेंटरों को बंद करने के निर्देश जारी किए थे। जिसके बाद कोविड वालंटियरों को भी सेवामुक्त कर दिया गया था। जिला नोडल अफसर डा. गुरदीप सिंह ने बताया कि सेहत विभाग की ओर से ग्रोथ सेंटर स्थित पैस्को ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में लेवल वन कैटेगरी मरीजों के लिए 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है। उक्त आइसोलेशन वार्ड में लेवल 1 कैटेगरी वाले, जिन मरीजों के पास मकान नहीं है व रिफाइनरी आदि में काम करने वाले मजदूरों को दाखिल किया जाएगा। डा. गुरदीप सिंह ने बताया कि स्टाफ व अन्य प्रबंध पूर कर लिए गए हैं। कोरोना काल में बठिंडा जिले ने 134 नागरिकों को हमेशा के लिए खो दिया। महामारी ने किन्हीं परिवारों से बुजुर्गों का साथ तो किसी के घर का मुखिया छीन लिया। किसी की पत्नी चल बसी तो किन्हीं बच्चों ने मां का आंचल खो दिया। भयावह आंकड़े चेता रहे हैं। जिला प्रशासन के अनुसार 25 जून से 16 अक्टूबर तक 134 संक्रमितों की मौत हुई है। इनमें 99 मरीज ऐसे थे जोकि पहले से दिल, उच्च रक्तचात, मोटापा, श्वास रोग व अन्य बीमारियों से जूझ रहे थे। करीब 35 मरीजों को कोरोना के अलावा अन्य कोई बीमारी नहीं थी। शनिवार को 62 वर्षीय दर्शना देवी वासी शीश महल कालोनी की लाइफ लाइन अस्पताल में इलाज दौरान मौत हो गई। पिछले कुछ दिनों से वे तेज बुखार, खांसी व इंफेक्शन से पीड़ित थी। इस दौरान हालत गंभीर होने पर शनिवार दोपहर उनकी मौत हो गई।

फिलहाल जिला प्रशासन की ओर से अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। वहीं शनिवार को 28 नए कोरोना संक्रमितों के साथ कुल संक्रमित की संख्या 6607 तक पहुंच गई है। हालांकि राहत देते आंकड़े ये कि 5256 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। एक्टिव केस 372 हैं। आज नए केसों की संख्या 28 और 39 डिस्चार्ज हुए हैं। उधर पंजाब सरकार की ओर से 5 अक्टूबर को लिखित पत्र जारी करते हुए लेवल वन कैटेगरी वाले सभी अस्थाई कोविड सेंटरों को बंद करने के निर्देश जारी किए थे। जिसके बाद कोविड वालंटियरों को भी सेवामुक्त कर दिया गया था। जिला नोडल अफसर डा. गुरदीप सिंह ने बताया कि सेहत विभाग की ओर से ग्रोथ सेंटर स्थित पैस्को ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में लेवल वन कैटेगरी मरीजों के लिए 100 बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है। उक्त आइसोलेशन वार्ड में लेवल 1 कैटेगरी वाले, जिन मरीजों के पास मकान नहीं है व रिफाइनरी आदि में काम करने वाले मजदूरों को दाखिल किया जाएगा। डा. गुरदीप सिंह ने बताया कि स्टाफ व अन्य प्रबंध पूर कर लिए गए हैं।

छावनी परिसर से मिले सर्वाधिक मरीज
शनिवार को सर्वाधिक 6 मरीज छावनी परिसर से मिले, एयरफोर्स स्टेशन भिसियाना से 4, एसएसपी दफ्तर से 1, बजरंगी कालोनी रामा से 2, माडल टाउन से 1, भगतुआना से 1, परसराम नगर से 1, प्रजापति कालोनी से 1, कोठे अमरपुरा से 1, भट्‌टी रोड़ से 1, भारत नगर से 1, माडल टाउन से 1 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। दूसरी तरफ सेहत विभाग के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि केंद्र सरकार जहां लगातार कोरोना के टेस्ट बढ़ाने के लिए कह रहा है वही जिले में लोग कोरोना जांच करवाने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। सिविल अस्पताल में जहां प्रतिदिन एक हजार से अधिक टेस्ट करने की व्यवस्था प्रतिदिन की गई है।

वहीं इन दिनों सिविल अस्पताल के फ्लू कार्नर में कोरोना टेस्ट करवाने के लिए मात्र कुछ लोग ही सैंपलिंग करवाने के लिए पहुंच रहे हैं। जबकि सरकारी दफ्तरों व भीड़-भाड वाले स्थानों पर पर सेहत विभाग की टीम स्वयं पहुंचकर सैंपलिंग कर रही है, लेकिन इसमें प्रतिदिन 100 के करीब ही टेस्ट हो पा रहे हैं। फिलहाल इसमें चिंता की दूसरी बात यह है कि बुखार, खांसी के साथ सांस जैसी समस्या से ग्रस्त लोग अंतिम समय में जांच के लिए पहुंच रहे हैं जिसमें अधिकतर लोग गंभीर हालत में पहुंच जाते हैं व उसमें कई लोगों की मौत हो जाती है।

मानसा जिले में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत, 11 नए मामले आए सामने

शनिवार को मानसा जिले में कोरोना पॉजिटिव के 11 नए मामले सामने आए हैं, वहीं फरीदकोट के गवर्नमेंट मेडिकल काॅलेज में मानसा के एक अाैर व्यक्ति की मौत हो गई। जिसके बाद मरने वालों की संख्या 34 हो गई है। सेहत विभाग की ओर से शनिवार को 6 लोगों को तंदरुस्त होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। जिले में एक्टिव केसों की संख्या 144 हो गई है। सेहत विभाग की ओर कोरोना चेन को तोड़ने के लिए 397 संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए है। जिले में अब तक कोरोना के 1822 मामले सामने आ चुके है जिसमें से 1644 ठीक हो चुके हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें