पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छप्पड़ों की सफाई:521 छप्पड़ों की सफाई कर बठिंडा जिला बना अग्रणी

बठिंडा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • छप्पड़ों की सफाई }228.96 लाख रुपए किए जा चुके हैं खर्च
  • मनरेगा में 87058 दिहाड़ीदारों को मिला रोजगार

प्रदेश सरकार की ओर से गांवों के छप्पड़ों की सफाई के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इसी के तहत बठिंडा जिले को छप्पड़ों की सफाई व गंदे पानी की निकासी करने में पंजाब में अग्रणी जिलों में शामिल होने का गौरव हासिल हुआ है।

डीसी बी श्रीनिवासन ने कहा कि ग्रामीण विकास व पंचायत विभाग की ओर से मनरेगा मजदूरों के जरिए 2020-21 के मई-जून महीने के दौरान छप्पड़ों की सफाई पहल के आधार पर करवाई जा रही है।

जिले में कुल 314 ग्राम पंचायतें हैं जिनमें मौजूदा समय 724 छप्पड़ हैं जिनमें से 162 साफ पानी के छप्पड़ हैं, वहीं 562 छप्पड़ों का गंदा पानी बाहर निकालने की योजना थी। इसमें से 521 छप्पड़ों में गंदे पानी को बाहर निकालने का काम मुकम्मल कर लिया गया है।

इसके अलावा 180 छप्पड़ों में गार निकालने का काम किया जाना था जिसमें से 142 छप्पड़ों की मार का काम शुरू गया और 42 छप्पड़ों से गार निकालने का काम पूरा कर लिया गया है।

जिला विकास व पंचायत अफसर हरजिंदर सिंह जस्सल ने बताया कि जिले में 97 छप्पड़ों से गार निकालने का काम मनरेगा स्कीम के अधीन जबकि बाकी के 45 छप्पड़ों की सफाई का काम 14वें कमीशन पर पंचायती फंड से करवाया जा रहा है।

मनरेगा स्कीम के अधीन छप्पड़ों की सफाई संबंधी करवाए गए कामों पर लगभग 228.96 लाख रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इससे मनरेगा स्कीम के तहत लगभग 87058 दिहाड़ीदारों को रोजगार मुहैया करवाया गया। सफाई के काम से जहां एक ओर छप्पड़ो की सफाई हो रही है, वहीं मनरेगा मजदूरों को रोजगार भी मिल रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें