प्रिंसिपल ने स्कूल में कटवाए 60 बच्चों के बाल:बठिंडा के स्कूल की घटना; बाल न कटाने पर नाम काटने की धमकी, पेरेंट्स पहुंचे विरोध जताने

बठिंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भठिंडा के गांव जमाल के राजकीय स्कूल में वो बच्चे जिनके बाल प्रिंसिपल ने कटवा दिए। - Dainik Bhaskar
भठिंडा के गांव जमाल के राजकीय स्कूल में वो बच्चे जिनके बाल प्रिंसिपल ने कटवा दिए।

पंजाब के रामपुरा फुल शहर के नजदीकी गांव जलाल के राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में प्रिंसिपल ने 50-60 बच्चों के बाल कटवा दिए। अब इस पर विवाद उठ खड़ा हुआ है। अभिभावकों ने कहा कि जबरदस्ती केस (बाल) कटवाकर उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है। प्रिंसिपल मैडम पर पुलिस कार्रवाई की जाए।

रामपुर के गांव जमाल के राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में प्रिंसिपल मैडम कुछ बच्चों के बालों को लेकर परेशान थी। बच्चों को इसके लिए बाकायदा चेतावनी दी गई कि या तो बाल कटवा लो या फिर स्कूल से नाम। उनकी बातों को बच्चों ने गंभीरता से नहीं लिया। गुस्साई मैडम ने नाई को स्कूल में बुलाया और 50-60 बच्चों के जबरन बाल कटवा दिए। अभिभावकों को इसका पता चला तो वे गुस्सा उठे।

बच्चों को छांट कर क्लास से बुलाया

बच्चों के अभिभावकों की मानें तो प्रिंसिपल मैडम की ओर से पहले ही तय किया गया था कि किन किन बच्चों के बाल कटवाने हैं। उन्होंने पहले तो नाई को स्कूल बुलाया और इसके बाद एक एक बच्चों को क्लास से बाहर लाकर उसके बाल कटवा दिए गए। बच्चों को इसकी भनक नहीं लगने दी कि बाहर उनके बाल कटवाए जा रहे हैं।

प्रिंसिपल बोली-कलर के साथ डिजाइन थे बाल

प्रिंसिपल मैडम से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने बच्चों को कई बार कहा था कि वे खुद बाल कटवा लें। बच्चों ने बाल नहीं कटवाए। बच्चों के बालों पर अलग अलग तरह के कलर और डिजाइन करवाए हुए थे। उन्होने ऐसे बच्चों के बाल कटवाए हैं। दूसरी तरफ बाल काटने वाले व्यक्ति ने बताया कि उसने स्कूल प्रिंसिपल के कहने पर बच्चों के बाल काटे हैं। बच्चों के बालों के डिजाइन नहीं थे।

खबरें और भी हैं...