पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सेहत जागरूकता:तापमान में उतार-चढ़ाव से बच्चे-बुजुर्ग हो रहे बीमार

बठिंडा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉ. हरिंदर सिंह ने कहा- युवाओं का इम्यून सिस्टम मजबूत, वे मौसम में बदलाव को सह लेते हैं

पिछले कुछ दिनों से तापमान के उतार-चढ़ाव से बच्चों और बुजुर्गों को बीमार कर सकता है, इसलिए इनका विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। पांच साल से छोटी उम्र के बच्चों और 60 साल से ऊपर की उम्र के लोगों में वायरल इंफेक्शन का खतरा बढ़ रहा है। दो से सात साल तक की उम्र के बच्चों में वायरल डिजीज और विंटर डायरिया की दिक्कत आ रही है। तापमान ज्यादा होने पर छोटे बच्चे गर्म कपड़े नहीं पहनते, जिस वजह से उनका बॉडी टेम्परेचर बिगड़ता है।

ऐसे मौसम में छोटे बच्चे जरूरत अनुसार कपड़े नहीं पहनते, जिस वजह से उनका बॉडी टेम्परेचर बिगड़ता है। शुरू में उन्हें खांसी-जुकाम के साथ-साथ बुखार की दिक्कत हो जाती है। विंटर डायरिया में लूज मोशन के साथ-साथ बच्चों को उल्टी की दिक्कत हो रही है। ये दोनों दिक्कतें वायरल इंफेक्शन ही कहलाती हैं। यह सब मौसम में उतार-चढ़ाव की वजह से हो रहा है। एमडी मेडिसिन डॉ. हरिंदर सिंह बताते हैं कि युवाओं का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। वे वे मौसम में बदलाव को सह लेते हैं।

बेशक तापमान ज्यादा हो, लेकिन बच्चों को गर्म कपड़े कम न पहनाएं, जहां तक संभव हो उन्हें बाहर न निकलने दें, घर का बना हुआ खाना खिलाएं, ज्यादातर लिक्विड दें, जहां तक संभव हो उन्हें हल्का गर्म पानी पिलाएं, अगर खांसी-जुकाम या बुखार हो जाए तो दो-तीन दिन घर में आराम करें, अगर इसके बाजवूद भी सिमटम बने रहें तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें, अगर आपको पहले से बीमारियां हैं तो खास ध्यान रखें, डायबिटीज और ब्लड प्रेशर है तो समय-समय पर चेक कराएं, हल्का भोजन करें। कोशिश करें लिक्विड ज्यादा मात्रा में लें और शरीर की जरूरत के मुताबिक गर्म कपड़े पहनकर रखें।

खांसी और बुखार हो तो डाक्टर की सलाह से ही दवा लें

60 से 70 साल उम्र वर्ग के बुजुर्गों को तापमान में उतार-चढ़ाव से दिक्कत हो जाती है। उन्हें रिस्पिरेटरी दिक्कत हो जाती है। इसके साथ अगर बुखार भी हो जाए तो यह वायरल बीमारी उन्हें एक हफ्ते तक परेशान करती है। डा. हरिंदर सिंह बताते हैं कि इन दिनों कोरोना वायरस है। ऐसे में अगर किसी को मौसम में आए बदलाव के चलते खांसी जुकाम के साथ बुखार भी हो जाता है तो उन्हें एकदम दवा लेने के बजाय एक-दो दिन आराम करना चाहिए।

डाक्टर से चेकअप करवाने के बाद ही दवाई लें। शिशु रोग माहिर डा. सतीश जिंदल ने बताया कि जैसे ही मौसम में बदलाव आया है, उसके बाद से 2 से 7 साल उम्र वर्ग के बच्चे ज्यादा बीमार हो रहे हैं। इन दिनों ओपीडी में वायरल डिजीज के 25 फीसदी मरीज बढ़े हैं। लॉकडाउन के बाद इन दिनों छोटे बच्चे ज्यादा बीमार हो रहे हैं।

दो साल से छोटी उम्र के बच्चे क्योंकि गोद में रहते हैं, इसलिए उन्हें ज्यादा दिक्कत नहीं होती। लेकिन उससे बड़ी उम्र के बच्चे ठंडे फर्श पर घूमते हैं। गर्म कपड़े पहनने से कतराते हैं। कई बार ज्यादा गर्म कपड़े पहनने से उन्हें पसीना आ जाता है। इसलिए वे कपड़े उतार देते हैं। बच्चे जब कपड़े उतारते हैं तो उन्हें हवा लग जाती है, जो बीमारी का कारण बनती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत व परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होगा। किसी विश्वसनीय व्यक्ति की सलाह और सहयोग से आपका आत्म बल और आत्मविश्वास और अधिक बढ़ेगा। तथा कोई शुभ समाचार मिलने से घर परिवार में खुशी ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser