ऑनलाइन पढ़ाई / दूरदर्शन से पढ़ रहे बच्चे, पहली से 12वीं तक की कक्षाओं के प्रसारित हो रहे वीडियो लेक्चर

डीडी पंजाबी पर प्रसारित अध्यापक के लेक्चर से पढ़ाई करती बच्ची। डीडी पंजाबी पर प्रसारित अध्यापक के लेक्चर से पढ़ाई करती बच्ची।
X
डीडी पंजाबी पर प्रसारित अध्यापक के लेक्चर से पढ़ाई करती बच्ची।डीडी पंजाबी पर प्रसारित अध्यापक के लेक्चर से पढ़ाई करती बच्ची।

  • कोरोना से लड़ाई है, घर से करनी पढ़ाई है स्लोगन के तहत बच्चों को कराई जा रही ऑनलाइन पढ़ाई
  • लौट आए हैं दूरदर्शन के दिन, घरों में हो रहा लोकप्रिय

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 06:23 AM IST

बठिंडा. मध्यम व सामान्य वर्ग के परिवार के मनोरंजन का सस्ता साधन दूरदर्शन अब विद्यार्थियों को पढ़ाई भी करवा रहा है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लॉकडाउन में पहली से 12वीं तक की सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों को अपने घर में ही बैठकर क्लासरूम स्टडी का फायदा मिल रहा है, अध्यापकों के वीडियो लेक्चर से अभिभावक भी बच्चे की पढ़ाई में दिलचस्पी और अध्यापन पैटर्न के बारे में जानकार हो रहे हैं।

केबल और डिश टीवी ने भले ही दूरदर्शन में दिलचस्पी कम की हो, लेकिन अब फिर से दूरदर्शन के दिन लौट आए हैं और यह हर घर में लोकप्रिय हो रहा है।

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले जरूरतमंद परिवारों के बच्चों के पास स्मार्ट फोन न होने से ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे थे। समस्या के समाधान के लिए शिक्षा विभाग की ओर से तैयार किए गए डीडी पंजाबी पर ऑनलाइन शिक्षा को शुरू किया गया है।

क्लास वाइज सब्जेक्ट एक्सपर्ट की ओर से तैयार किए गए चैप्टर की वीडियो सीडीज अलग-अलग समय पर प्रसारित की जाती है।

इससे तीसरी, चौथी, पांचवीं, 9वीं व 10वीं के विद्यार्थी डीडी पंजाबी चैनल के माध्यम से अपने सिलेबस पर आधारित पढ़ाई कर रहे हैं। ग्रामीण इलाके के विद्यार्थी इस प्रावधान से ज्यादा लाभान्वित हुए हैं।

ये उपकरण हैं शामिल :

यह शिक्षा एनसीईआरटी द्वारा डीटीएच चैनल स्वामी प्रभु के माध्यम से 7वीं व 8वीं कक्षाओं के लिए प्रदान की जा रही है। नए शैक्षिक सत्र से ऑनलाइन एजुकेशन देने के लिए मोबाइल, यू ट्यूब, रेडियो एडुसेट, गूगल ड्राइव एवं अन्य उपकरणों का प्रयोग किया गया था।

प्रसारण का समय :

शिक्षा विभाग की ओर से पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब के तहत पूर्व में निर्धारित शेड्यूल में बदलाव किया गया है, इसमें सुबह 9 से 10 बजे तक प्राइमरी कक्षा की पढ़ाई कराई जा रही है।

तीसरी के 4 जबकि चौथी-पांचवीं के 5-5 सब्जेक्ट के टीचर की ओर से 5-5 मिनट का वीडियो लेक्चर प्रसारित किया जाता है। अध्यापकों की ओर से टीएलएम इस्तेमाल करके बेहद बारीकी से बच्चों को पढ़ाया जाता है जिससे बच्चे बेहद अच्छे तरीके से समझ रहे हैं।

प्रदेश भर के हर सब्जेक्ट टीचर को लाइव पढ़ाने का मौका दिया जाता है, अध्यापक अपने स्तर पर वीडियो बनाकर भेजते हैं जिसे जालंधर दूरदर्शन की ओर से प्रसारित किया जाता है।

प्री प्राइमरी बच्चों के लिए भी स्टडी मैटर प्रसारित किया जाता है। वहीं 10 से 10.15 बजे तक ब्रेक के बाद छठी से आठवीं तक की टीवी पर क्लासेज लगती हैं तथा 10वीं क्लास के लिए प्रसारण का समय सुबह 11.15 से दोपहर 1.45 बजे तक किया जा रहा है।

हालांकि अध्यापकों की ओर से वट्सएप, यू ट्यूब लेक्चर व रिकार्डेड लेक्चर से भी ऑनलाइन मोबाइल से पढ़ाई भी बराबर चल रही है। 

पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए सिलेबस की कहानियां की वीडियो भी यू ट्यूब का लिंक

https://youtu.be/YkhDXshIG9A भेजा जाता है। इसके अलावा आज की बातचीत में किसी न किसी विषय अथवा पर्यावरण या पंछियों के बारे में बताया जाता है। बच्चों को गतिविधियों की फोटोग्राफ भी साझा किए जाते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना