विरोध-प्रदर्शन / लॉकडाउन में ज्योति को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतरे शहरवासी

Citizens took to the streets to bring justice to Jyoti in lockdown
X
Citizens took to the streets to bring justice to Jyoti in lockdown

  • ज्योति को यूनिवर्सिटी में बुलाने वाले अधिकारियों पर केस दर्ज किया जाए
  • परिवार को 50 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बठिंडा. महाराजा रंजीत सिंह पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी में संदिग्ध अवस्था में मरी क्लर्क कम डाटा एंट्री ऑपरेटर 26 साल की ज्योति को इंसाफ दिलाने के लिए शुक्रवार को लोग सड़कों पर उतर आए।

जस्टिस फॉर ज्योति, कातिलों को फांसी हाे, ज्योति की मौत के जिम्मेवार अधिकारियों पर केस दर्ज हो, महाराजा रंजीत सिंह पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए लोग हाथों में कैंडल लेकर मार्च करते हुए किला मुबारक से शुरू हाेकर शहर के अलग-अलग बाजारों से होते हुए मिनी सचिवालय के पास अंबेडकर पार्क पहुंचे, जहां डीसी बठिंडा को एक मांग पत्र सौंपा गया। कमेटी ने मांग की है कि ज्योति की मौत के जिम्मेवार दो अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

एक्शन कमेटी ने चेतावनी दी है कि अगर ज्योति के परिवार को इंसाफ न मिला तो वह संघर्ष की रणनीति अपनाएंगे।

आगे क्या...इंसाफ नहीं मिलने तक संघर्ष

उन्होंने कहा कि एक साेची समझी साजिश के तहत अधिकारियों को इस केस से बाहर रखा जा रहा है। संगठनों ने मांग की है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए और लॉकडाउन के बीच ज्योति को यूनिवर्सिटी बुलाने वालों पर केस दर्ज कर तुरंत सस्पेंड किया जाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना