जताया विरोध / सरकार व विभाग के फैसले से परेशान कांट्रेक्ट वर्करों ने दी पानी की टंकी पर चढ़ने की चेतावनी

Contract workers, troubled by the decision of the government and the department, warned to climb on the water tank
X
Contract workers, troubled by the decision of the government and the department, warned to climb on the water tank

  • वर्करों के वेतन देने को नया हेड 30 कांट्रेक्चुअल सर्विस लाने पर यूनियन ने जताया विरोध

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 06:32 AM IST

बठिंडा. जल सप्लाई व सेनिटेशन कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन के प्रांतीय उपप्रधान व जिला प्रधान संदीप खां बालियांवाली, महासचिव अमित बांसल ने कहा कि ग्रामीण जल सप्लाई योजनाओं पर 10-12 साल से सेवाएं दे रहे ठेका आधारित कांट्रेक्टर वर्करों के विरोध में पंजाब सरकार व जल सप्लाई व सेनिटेशन विभाग की ओर से आए दिन जनविरोधी फैसले लिए जा रहे हैं।

इसी के तहत पक्के रोजगार की मांग कर रहे इन कांट्रेक्टर वर्करों को वेतन देने वाला पहला 2 वेजेज 2215 हैड बदलकर 1 अप्रैल 2020 से 227 माइनर वर्क हेड (ठेकेदार को मेंटीनेंस की पेमेंट देने) के अधीन वेतन देने का फैसला लिया, इसके बाद जल सप्लाई विभाग के अतिरिक्त डायरेक्टर वित्त ने अब 19 मई को पत्र नंबर 1384-1437 जारी करके वर्करों को वेतन देने वाला नया हेड 30 कांट्रेक्चुलर सर्विस लाया जा रहा है।

इसके विरोध में जल सप्लाई व सेनिटेशन कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन की प्रांतीय कमेटी की ओर से संघर्ष को तेज करके पंजाब के जिलों को दो हिस्सों में बांटकर 28 व 29 मई को शहर में सार्वजनिक स्थानों पर बनी वाटर वर्क्स की टंकियों पर चढ़कर पंजाब सरकार व जल सप्लाई मैनेजमेंट के खिलाफ तहसील स्तर पर रोष प्रदर्शन किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि प्रांतीय कमेटी के फैसले के तहत जिला बठिंडा की तहसील में वर्करों की ओर से 28 मई को प्रदर्शन किया जाएगा जिसकी तैयारियों संबंधी वर्करों से विशेष तोर पर प्रदेश प्रधान वरिंदर सिंह ने बैठक करके जिला टीमों को लामबंद किया। उन्होंने कहा कि वर्करों को अपने रोजगार को बचाने के लिए तीखे संघर्ष के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि इस संघर्ष के दौरान किसी तरह के नुकसान की जिम्मेदारी सीधे तौर पर सरकार व संबंधित विभाग की मैनेजमेंट की होगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना