पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीनेशन संकट:कोविशिल्ड खत्म, को-वैक्सीन की मात्र 100 वॉयल शेष

बठिंडा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेहत विभाग ने रविवार को मैसेज भेज कर जिले में अधिकतर वैक्सीनेशन कैंप कैंसिल किए

वैक्सीन का स्टाक खत्म होने से सोमवार को अधिकतर सेशन सेंटर और कोविड वैक्सीनेशन कैंप की प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है। इसका मुख्य कारण यह है कि सेहत विभाग के स्टाक में रविवार को कोविशिल्ड-0 और को-वैक्सीन की मात्र 100 वॉयल्स ही शेष बची है। जिसके चलते जिला सेहत विभाग ने रविवार को मैसेज भेज कर अधिकतर वैक्सीनेशन कैंपों को कैंसिल कर दिया है। जबकि प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन प्रक्रिया नहीं की गई। सेहत विभाग अधिकारियों के अनुसार 16 जनवरी से शुरू हुई वैक्सीनेशन प्रक्रिया के तहत जिले में अब तक 110680 लोगों का टीकाकरण किया गया है। रविवार को पूरे दिन 2644 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई गई।

जिसमें हेल्थ वर्कर 31, फ्रंटलाइन वर्कर 596, 45 उम्र से अधिक 992 और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 294 लोगों ने वैक्सीन की डोज लगवाई है। इनमें दूसरी डोज लगवाने वाले भी शामिल है। गौर हो कि कोरोना की दूसरी लहर देशभर में अपना कहर बरपा रही है। जिले में भी आए दिन 500 से अधिक संक्रमित केस सामने आ रहे है। जिसे में कोरोना के तेजी से बढ़ने का मुख्य कारण लोगों की ओर से कोरोना को हल्के में लेना है। लोग मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे है और बाजारों व सार्वजनिक स्थानों पर भी शारीरिक दूरी का ध्यान नहीं रखा जा रहा है।

वैक्सीन उपलब्ध करवाने की डिमांड भेजी गई है

स्टाक में वैक्सीन की कमी होने के कारण वैक्सीनेशन प्रक्रिया में दिक्कत आई है। सोमवार को जिन सेंटरों पर वैक्सीन उपलब्ध होगी सिर्फ उन्हीं सेंटरों पर ही वैक्सीनेशन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। स्टेट को वैक्सीन की डिमांड भेजी गई है, स्टाक उपलब्ध होते ही पहले की तरह वैक्सीनेशन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।
डा. मीनाक्षी सिंगला, जिला टीकाकरण अफसर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें