पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बठिंडा:मॉडल टाउन फेज-1 में लगे गंदगी के ढेर

बठिंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजिंदरा कालेज के ग्राउंड में खड़े कूडा उठाने वाले टिप्पर।

शहर के विभिन्न क्षेत्र में प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों के आने से लोगों में भय बना हुआ है वहीं, मॉडल टाउन फेज-1 में इन दिनों सफाई व्यवस्था सही न होने के कारण स्थानीय लोग परेशान है। जगह-जगह गंदगी फैलने के कारण के कारण इन दिनों माडल टाउन फेस- वन की हालत स्लम बस्तियों जैसी हो गई है। एक तरफ नगर निगम मिशन फतेह व स्वच्छ भारत अभियान के तहत शहर में साफ-सफाई को यकीनी बनाने के लिए विशेष प्रयास कर रहा है।

वहीं, दूसरी तरफ उक्त इलाका साफ-सफाई वाले इलाकों में गिना जाता है, इसके बावजूद इन दिनों यहां कई दिनों तक कूड़ा न उठाने के कारण गंदगी के ढेर लगे रहते हैं। मॉडल टाउन फेज-1 के एरिया को तो कूड़े करकट का डंप बना कर रख दिया गया है। इस ओर कोई भी प्रशासनिक अधिकारी ध्यान नही दे रहे हैं। इसके कारण स्थानीय लोगों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

शहर के आरटीआई कार्यकर्ता तथा ग्राहक जागो संस्था के सचिव संजीव गोयल ने कहा कि नगर निगम के कमिश्नर से लेकर डीसी तक को भेजी गई शिकायत में बताया है कि इलाके में दो-दो दिनों तक कचरा उठाने वाले टिप्पर नहीं आ रहे। इसके कारण लोगों के घरों और दुकानों में पड़े कूड़ा-कर्कट से बदबू आने लगती है। सड़कों पर भी कूड़े के ढेर आम देखे जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर नगर निगम में टिप्परों के न आने संबंधी शिकायत की जाती है तो उस पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। निगम के फेसबुक अकाउंट पर मोबाइल नंबर देकर कहा जा रहा है कि अगर कहीं टिप्पर न आए तो इस नंबर पर तुरंत शिकायत करें।

संजीव गोयल ने कहा कि कुछ दिन पहले उन्होंने टिप्परों के समय पर नहीं आने संबंधी शिकायत पंजाब सरकार को की थी। पंजाब सरकार ने शिकायत डायरेक्टर लोकल गवर्नमेंट के पास भेजी दी और लोकल गवर्नमेंट ने नगर निगम बठिंडा के पास। इस शिकायत के जवाब में नगर निगम की तरफ से एक पत्र भेजा गया। इसमें कहा गया कि टिप्पर के कर्मचारियों को बीट प्लान के मुताबिक समय पर संजीव गोयल की गली में से कूड़ा लेकर जाने की हिदायत कर दी गई है। हिदायत करने के बाद भी टिप्पर दो-दो दिन तक कूड़ा-कर्कट उठाने नहीं आते।

लोगों को मजबूर होकर इधर-उधर कूड़ा फेंकना पड़ रहा है। यह स्थिति अकेले मॉडल टाउन की ही नहीं, बल्कि शहर के कई अन्य इलाकों की भी है। इस ओर कोई प्रशासनिक अधिकारी भी ध्यान नहीं दे रहे। संजीव गोयल ने शिकायत में यह भी बताया है कि कई-कई दिनों तक सड़कों की सड़कों की सफाई नहीं की जाती और डस्टबिन बिल्कुल टूट चुके हैं। डस्टबिन टूटे होने के कारण सारा कूड़ा करकट बाहर ही सड़कों पर पड़ा रहता है। जबकि लाखों रुपये की लागत के साथ यह डस्टबिन लगाए थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें