पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

घेराव:17 को किसान फूंकेंगे पीएम का पुतला

बठिंडा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा की बैठक का किसान जताएंगे विरोध, नेताओं का जारी रहेगा घेराव

केंद्र सरकार से खेती आर्डिनेंस मसले पर हुई बैठक निष्फल रहने पर वीरवार को 31 किसान संगठनों ने बैठक करके आंदोलन को तीखा करने का एलान किया। किसान संगठनों ने फैसला किया कि 17 अक्टूबर को पूरे पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंक प्रदर्शन किया जाएगा। वहीं पंजाब में जहां कहीं भी होने वाली भाजपा की बैठक का विरोध जताया जाएगा और भाजपा नेताओं का घेराव किया जाएगा। 1 अक्टूबर से चल रहे रेल चक्का जाम के अलावा कारपोरेट घरानों के कारोबार का घेराव जारी रहेगा। इसके अलावा 20 अक्टूबर को होने वाले बैठक में संघर्ष की रूपरेखा बनाई जाएगी।

बठिंडा के मुल्तानिया पुल के नीचे चल रहा किसान संगठनों का रेल चक्का जाम व धरना-प्रदर्शन वीरवार को 14वें दिन भी जारी रहा। रेलवे ट्रैक पर बैठे किसानों को भाकियू सिधुपूर, भाकियू क्रांतिकारी, भाकियू डकौंदा, भाकियू लक्खोवाल, भाकियू मानसा व कीरती किसान यूनियन के नेताओं ने संबोधित करते हुए खेती आर्डिनेंस रद होने तक अपने आंदोलन को इसी जोश के साथ जारी रखने का आह्वान किया। वहीं भाकियू सिद्धूपुर की ओर से गांव कनकवाल में रिफाइनरी रेल लाइन पर लगाया धरना 10वें दिन जबकि दोनों रिलायंस पंप पर लगा धरना 14वें दिन भी जारी रहा। कनकवाल रेल लाइन पर लगे धरने में बड़ी संख्या में किसान-मजदूरों ने हिस्सा लिया ओर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

तलवंडी साबो के वरिष्ठ उपप्रधान बलवंत सिंह जीवन सिंह वाला व महासचिव राजवीर सिंह शेखपुर की अगुवाई में रेल लाइनों पर धरना लगाया गया। जिला नेता रेशम सिंह यात्री, जोधा सिंह नंगला ने कहा कि अकेली केंद्र सरकार ही जनविरोधी नहीं बल्कि पंजाब की सरकार भी कम नहीं क्योंकि जब केंद्र सरकार के विरोध में पंजाब के लोग रेल लाइनों व शॉपिंग माल व पेट्रोल पंपों पर धरने पर बैठी, लेकिन कांग्रेस सरकार ने गांवों में टूर्नामेंट करवाने के लिए ग्रांट जारी की ताकि लोग टूर्नामेंट देखने के शौकीन लोग धरने पर न बैठ सकें।

किसान मजदूरों को अपने बच्चों की रोटी का फिक्र है जोकि केंद्र सरकार जनविरोधी खेती आर्डिनेंस जारी करके उनसे छीनना चाहती है जबकि ऊपर से किसान-मजदूरों के हितैषी होने का ढोंग करते हैं लेकिन सही मायने में ये लोगों के दुश्मन हैं। जब तक जनविरोधी आर्डिनेंस रद नहीं किए जाते, संघर्ष जारी रहेगा। धरने को तेजिंदर सिंह, प्रीतम सिंह, मनजीत सिंह, दविंदर सिंह, बूटा सिंह, राजिंदर सिंह, रोशन सिंह, गुरमेल सिंह, कुलवंत सिंह, बंत सिंह, जोत गिल, हरदेव सिंह, तेजा सिंह, बाबा कर्म सिंह, भजन सिंह, जैमल सिंह, नरिंदर पाल सिंह सिधू, गुरदास, लखविंदर सिंह, गुरप्यास सिंह समेत अन्य सैकड़ों किसान धरने में शामिल हुए। वहीं भाकियू एकता उग्राहां के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने जीदा व लहराबेगा के दोनों टोल प्लाजा के अलावा एस्सार व रिलायंस के पेट्रोल पंप, भुच्चो के वालमार्ट बेस्ट प्राइज और बनांवाली थर्मल प्लांट का घेराव करके कारपोरेट घरानों के कारोबार 14वें दिन भी ठप रखे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें