पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कार्रवाई:जिले में अवैध शराब व लाहन बरामदगी के पांच केस दर्ज

बठिंडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लचर कानून बना शराब तस्करों के लिए ‘घुट्टी’, आबकारी एक्ट में कड़ी सजा का प्रावधान ना होने से हो जाती है जमानत

(मनजीत बादल) पुलिस के लाख प्रयासों के बावजूद शराब तस्करी पर रोक नहीं लग पा रही है। मंगलवार को भी जिला पुलिस ने अलग-अलग स्थानों से अवैध शराब व लाहन बरामदगी के पांच मामले दर्ज कर तीन शराब तस्करों को गिरफ्तार किया है। जानकारी अनुसार नहियांवाला पुलिस ने गांव गोनियाना खुर्द के पास से इकबाल सिंह वासी गोनियाना कलां को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 150 लीटर लाहन बरामद की।

नहियांवाला पुलिस ने ही गांव खेमुआणा निवासी हरजिंदर सिंह को 40 लीटर लाहन तथा शराब निकालने वाली भट्टी का सामान समेत गिरफ्तार कर लिया। सदर रामपुरा पुलिस ने गांव चाउके में छापेमारी कर 200 लीटर लाहन पकड़ी लेकिन आरोपी गुलजार सिंह पुलिस के हाथ नहीं लग पाया और फरार होने में कामयाब हो गया।

नथाना पुलिस ने गांव कल्याण सुखा में छापेमारी कर 20 लीटर लाहन बरामद की लेकिन आरोपी माहणा सिंह पुलिस के हाथ नहीं लग पाया। तलवंडी साबो पुलिस ने गांव गुरुसर जगा के पास एक कार से 24 बोतल हरियाणा मार्का शराब बरामद की। लेकिन आरोपी निक्का सिंह वासी माखा तथा सुरजन सिंह वासी जोगी वाला मौके से फरार हो गए तथा पुलिस के हाथ नहीं लग पाये।

शराब तस्करों के खिलाफ कड़ा कानून लाने की तैयारी में सरकार
अब पंजाब सरकार शराब तस्करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए पकोका (पंजाब कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट) जैसा कानून लाने की तैयारी कर रही है। इसके साथ संगीन अपराधियों को काबू करने में सहायता मिल सकती है और गैंगस्टरों को रोकने में सहायक सिद्ध हो सकता है जो जेलों से भी संगठित अपराध में लिप्त रहते हैं।

बीते दिनों पंजाब केबिनेट की मीटिंग में सीएम ने इस बारे संकेत भी दिए गए। मीटिंग में नकली, अवैध शराब बनाने व तस्करी के लिए एक्साइज एक्ट में सजा बढ़ाने का भी विचार किया गया ताकि बार-बार अपराध करने वाले जेल की सलाखों के पीछे रहें।
शराब बनाने के सामान के साथ गिरफ्तारी, फिर भी दो दिन में बेल
हर साल जिला पुलिस हजारों लीटर कच्ची शराब (लाहन) व चालू भट्ठियों के सामान समेत तस्करों को काबू करती है, लेकिन फिर भी यह कारोबार धड़ल्ले से हो रहा है रहा है। अकसर शराब तस्करों के खिलाफ एक्साइज एक्ट की धारा 60 के तहत केस दर्ज होते हैं। इस धारा के तहत आरोपियों की थानों में ही जमानत हो जाती है, अदालत से सजा भी बहुत कम हाेती है जिसका पूरा फायदा शराब माफिया उठाते हैं। आरोपी सजा काटने के बाद फिर से यह धंधा शुरू कर देते हैं।

सीएम कैप्टर अमरिंदर सिंह भी दे चुके हैं कड़ी कार्रवाई के आदेश
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पुलिस को शराब की तस्करी पर रोक लगाने का निर्देश दिया था। मुख्यमंत्री ने उन उपाधीक्षकों और थाना प्रभारियों के खिलाफ भी कार्रवाई करने का आदेश दिया था, जिनके क्षेत्र में शराब की तस्करी या अवैध तरीके से शराब बनाई जा रही है। ध्यान रहे कोरोना वायरस के चलते लगे कर्फ्यू व लॉकडाउन के दौरान भी जिले में शराब तस्करों ने जमकर अवैध शराब तस्करी के काम को अंजाम दिया था। कोरोना को रोकने के लिए पंजाब में 23 मार्च से लगे कर्फ्यू के दौरान शराब तस्करी बदस्तूर जारी रही। ठेके तो बंद रहे पर सूबे में अवैध शराब का धंधा खूब फला-फूला।

एक्सपर्ट व्यू...एक्साइज एक्ट में कड़ी सजा का प्रावधान होना चाहिए
एक्साइज एक्ट में कड़ी सजा का प्रावधान नहीं है। पुलिस और आबकारी विभाग शराब माफिया को कच्ची शराब के साथ पकड़ते हैं तो उसका धारा 61 में चालान होता है। शराब तस्करी में पकड़े जाने पर आरोपी खिलाफ कई बार पुलिस की ओर से खामियां रह जाती है जिसका फायदा उसे जमानत व ट्रायल में मिलता है। एक्ट में कड़ी सजा का प्रावधान ना होने कारण इसका फायदा उठाकर तस्कर अक्स बरी हो जाते हैं। जिसके चलते एक्ट में संशोधन होना जरूरी है, क्‍योंकि जो लोग घरों में कच्ची शराब बनाकर बेचते हैं वो इस काम से डरेंगे तथा उन्हें जल्द जमानत नहीं मिलेगी। रणधीर कौशल, एडवोकेट, बठिंडा

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें