पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सेहत:पूरी नींद, सकारात्मक विचार व अच्छे दोस्त मानसिक रोगों का इलाज

बठिंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में 30 से 40% लोग मानसिक रूप से परेशान, बच्चों से लेकर बुजुर्ग भी शामिल, डा. बांसल बोले-

सिविल अस्पताल की ओपीडी में शनिवार को सिविल सर्जन बठिंडा डॉ. अमरीक सिंह संधू की अगुवाई में विश्व मानसिक दिवस मनाया गया। इस दौरान जिला मानसिक सेहत प्रोग्राम के नोडल अधिकारी डा. अरुण बांसल ने बताया कि हर चार में से एक व्यक्ति किसी न किसी कारण मानसिक रोग से पीड़ित है। मानसिक तनाव से सेहत पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। तनाव के कारण बड़ी संख्या में युवा इसका शिकार हो रहे हैं। इसी कारण लोग आत्महत्या कर रहे हैं। आज पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है। ऐसे में मानसिक स्वास्थ्य की उपयोगिता और बढ़ गई है।

इसी उद्देश्य के तहत 10 अक्टूबर को पूरे देश में मानसिक सेहत दिवस मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि अपने आप को अकेला नहीं रखना चाहिए, अगर कोई बात मन में है, तो उसको अपनों के साथ शेयर करें। अगर आत्महत्या का विचार मन में आए तो तुरंत माहिर डाक्टर से संपर्क करें और इलाज शुरू करवाना चाहिए। डा. बांसल ने बताया कि कोरोना काल में जिले भर में 30 से 40 प्रतिशत लोग मानसिक रूप से परेशान हैं।

मानसिक रोगों के लक्षण

डा. बांसल ने बताया कि उदास रहना, दोस्तों तथा परिवार के सदस्यों से अलग रहना, मूड बार-2 बदलना, असामान्य व्यवहार, अधिक से अधिक समय अकेले में बिताना, घबराहट या डर, समस्या समाधान न कर पाना, संदेह करना, बार-2 बंद ताला चैक करना, बार-2 बिना कारण हाथ धोना, ध्यान केंद्रित करने में परेशानी, नींद संबंधी समस्याएं, बार-2 आत्महत्या के विचार आना, वास्तविकता से दूर भागना और हिंसक व्यवहार मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं होने के लक्षण हैं।

अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए सुझाव

नियमित रूप से पौष्टिक आहार का सेवन करें, दिन में खूब पानी पिएं, व्यायाम, योग व ध्यान करें। शराब, बीड़ी सिगरेट, गुटखा, तंबाकू आदि का सेवन न करें। इनके सेवन से तनाव व उदासी बढ़ती है। देर रात तक मोबाइल के उपयोग से बचें, अपनी सोच सकारात्मक रखें, समस्याओं से तनाव में न आएं, नकारात्मक विचारों से बचें। जरूरत पड़ने पर अपने मित्रों की मदद लें, उनसे चर्चा करें। चाय की बजाय कॉफी या ग्रीन टी पीने की सलाह दी जाती है, मानसिक विकार के लक्षण दिखाई देने पर मरीज के मन आत्मविश्वास का भाव पैदा करें। उसे हतोत्साहित नहीं करें। नींद पूरी नहीं होने से व्यक्ति मानसिक रूप से बीमार हो सकता है। अच्छे दोस्त बनाएं। उनके साथ समय बिताएं, अपनी रूचि का काम करें। इस मौके जिला बीसीसी कॉर्डिनेटर नरिंदर कुमार ने बताया कि मानसिक रोग भी शारीरिक रोगों की तरह ही है। इसका इलाज संभव है। इस दौरान मास मीडिया अधिकारी कुलवंत सिंह, प्रोजेक्टनिस्ट केवल कृष्ण, रूप सिंह मान, मुहम्मद साहिबाज व रुपिंदर कौर भी शामिल थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें