पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • In Sangrur, PTI Teachers Climbed The Wall And Entered The Rest House, In Patiala, Vocational Teachers Marched With Tires Around Their Necks.

प्रदर्शन:संगरूर में पीटीआई अध्यापक दीवार फांदकर रेस्ट हाउस में घुसे पटियाला में वोकेशनल टीचर्स ने गले में टायर डाल मार्च निकाला

बठिंडा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बठिंडा में टेट पास बेरोजगार टीचर्स का वित्तमंत्री के दफ्तर के सामने प्रदर्शन, खून निकाल बैरिकेड पर गिराया - Dainik Bhaskar
बठिंडा में टेट पास बेरोजगार टीचर्स का वित्तमंत्री के दफ्तर के सामने प्रदर्शन, खून निकाल बैरिकेड पर गिराया

अपनी मांगों को लेकर संगरूर में बेरोजगार पीटीआई अध्यापकाें, पटियाला में वोकेशनल टीचर्स और बठिंडा में टेट पास बेरोजागारों ने प्रदर्शन किया। संगरूर में 14 दिन से न्यू बेरोजगार पीटीआई अध्यापक यूनियन के सदस्य महावीर चौक में पक्के मोर्चे पर बैठे हैं। रविवार को मोर्चे के सदस्य पुलिस से धक्का-मुक्की कर शिक्षा मंत्री के अस्थायी निवास रेस्ट हाउस में दीवार फांद दाखिल हो गए और धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। हालांकि शिक्षा मंत्री रेस्ट हाउस में नहीं थे। उन्होंने रेस्ट हाउस का मुख्य गेट अंदर से खोल दिया। इसके बाद सभी सदस्य भीतर दाखिल हो गए।

करीब ढाई घंटे बाद सवा डीएसपी पलविंदर सिंह ने सोमवार सुबह 11 बजे डीसी से बैठक कराने का आश्वासन दिया लेकिन यूनियन ने ठुकरा नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद ने 10 मिनट का समय पुलिस ने करीब 40 बेरोजगारों को बसों में डाल हिरासत में ले लिया। इसके बाद शाम 7 बजे के करीब सभी को पुलिस ने छाेड़ दिया। उधर, पटियाला में पक्का मोर्चा लगाकर बैठे वोकेशनल अध्यापकों ने गुरुद्वारा श्रीदुखनिवारण साहिब चौक से फव्वारा चौक तक गले में टायर डालकर मार्च निकाला। फव्वारा चौक के पास कुछ अध्यापकों ने गले में टायर को आग लगाने की कोशिश की। पुलिस ने धक्का-मुक्की कर अध्यापकों पर लाठी चार्ज किया। जिला प्रशासन ने 6 सितंबर को शिक्षामंत्री विजय इंदर सिंगला से मीटिंग तय कराई। वहीं, बठिंडा में मांगों काे लेकर वित्तमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन और खून निकलवा पुलिस बैरिकेड पर छिड़काव किया।

पीटीआई अध्यापकों की मांग 5 हजार पोस्ट निकाली जाएं
5 हजार पोस्ट निकाली जाएं। पीटीआई अध्यापकों को प्राइमरी स्तर से मिडिल स्तर तक नियुक्त किया जाए।
नई भर्ती का विज्ञापन जल्द जारी किया जाए। शारीरिक शिक्षा विषय को प्राइमरी स्कूल से लेकर हर शिक्षा के लिए जरूरी किया जाए।

खबरें और भी हैं...