पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एजुकेशन:जैक का एलान-एससी के 2 लाख छात्रों के रोल नंबर रोकेंगे प्राइवेट अनएडेड कॉलेज

बठिंडा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के लगभग 2 लाख अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति 2017-18, 2018-19 और 2019-20 के 1850 करोड़ का भुगतान ना करने की वजह से आगामी परीक्षाओं में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ज्वाइंट एसोसिएशन आफ कॉलेजेज के आह्वान पर प्राइवेट अनएडेड कॉलेजों ने इस श्रेणी के विद्यार्थियों का रोल नंबर रोकने का एलान किया है। जूम ऐप पर हुई वर्चुअल बैठक में 1600 गैर सहायता प्राप्त कॉलेजों का प्रतिनिधित्व करने वाले 13 संगठनों ने भाग लिया। जैक ने चेतावनी दी कि रोल नंबर जारी न करने की वजह से किसी विद्यार्थी का भविष्य खराब होता है तो इसकी सारी जिम्मेदारी पंजाब सरकार की होगी क्योंकि वह बिना फीस लिए 2 लाख छात्रों को 3-4 साल तक नहीं पढ़ा सकते।

प्रधान डॉ. गुरमीत सिंह व जगजीत सिंह ने कहा कि 2017-18, 2018-19 व 2019-20 में अपनी पढ़ाई पूरा कर चुके अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के हिस्से की पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप का पैसा सरकार की ओर से अदा नहीं किया गया। न तो विद्यार्थी फीस दे रहे हैं और न ही सरकार। ऐसे में प्राइवेट अनएडेड कॉलेजों के लिए विद्यार्थियों को पढ़ाना संभव नहीं है।

जैक के महासचिव सुखमिंदर सिंह चट्ठा ने कहा कि 2020-21 में भी सरकार ने विद्यार्थियों को स्पष्ट निर्देशों के अभाव में पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति राशि का कुछ हिस्सा छात्रों के खाते में जारी किया है, जबकि विद्यार्थी इस राशि का भुगतान कॉलेजों को नहीं कर रहे। मनजीत सिंह ने कहा कि इतना ही नहीं, 2020-21 की 90 करोड़ पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप की प्रतिपूर्ति नहीं की गई है। केंद्र सरकार 2-3 महीने पहले ही पंजाब को इस राशि का भुगतान कर चुकी है। बैठक में मंजीत सिंह, निर्मल सिंह, जसनिक सिंह, डॉ सतविंदर संधू, विपिन शर्मा, सुखमंदर सिंह चट्ठा, शिमांशु गुप्ता वित्त, राजिंदर सिंह धनोआ उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...