पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रयास:उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस ट्रेन बचाने को सांसदों को लिखे पत्र

बठिंडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलवे पैसेंजर वेलफेयर एसोसिएशन ने एक्सप्रेस रेलगाड़ी को स्थायी रूप से बंद होने से बचाने का आग्रह किया

रेलवे पैसेंजर वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव सुखदेव बांसल ने श्रीगंगानगर समेत पंजाब व हरियाणा के सभी 6 सांसदों को पत्र लिखकर उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस रेलगाड़ी को स्थायी रूप से बंद होने से बचाने को सार्थक प्रयास करने का आग्रह किया है। श्रीगंगानगर व दिल्ली को रेलसेवा से सीधा जोड़ने वाली अनेक दशकों पुरानी रेलगाड़ी उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 13007/13008 को स्थायी रूप से बंद करने की प्रक्रिया लगभग अंतिम चरण में है।

सुपरफास्ट दर्जा देने की मांग, श्रीगंगानगर से हावड़ा के मध्य 25 ठहराव का सुझाव दिया
सांसदों को लिखे पत्र में सुखदेव बांसल ने बताया कि केंद्रीय मंत्री व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड़ के प्रयासों से उद्यान आभा रेलगाड़ी को कई दशक पहले श्रीगंगानगर से हावड़ा तक के लिए शुरू करवाया, यह उस समय की पहली रेलगाड़ी रही जिससे राजस्थान, पंजाब व हरियाणा के लोगों को एक बेहतर सेवा मिली। हालांकि इससे पहले तक यह रेलगाड़ी दिल्ली से हावड़ा के मध्य ही चलती थी। उद्यान आभा एक्सप्रेस के बंद होने से यूपी बिहार आने जाने प्रवासी परिवारों को सबसे ज्यादा नुकसान होगा।

दिल्ली से पहले श्रीगंगानगर, बठिंडा, फिरोजपुर, फरीदकोट, सिरसा, सोनीपत व रोहतक सांसदों के क्षेत्र आते हैं, इन 7 सांसदों से आग्रह है कि वे सभी जनता की सुविधा को अहम रखते हुए रेलमंत्री से उद्यान आभा को सुपरफास्ट का दर्जा दिलाकर इसे जारी रखवाने का प्रयास करें।

सुखदेव बांसल के अनुसार लॉकडाउन के दौरान ईस्टर्न रेलवे की ओर से इस रेलगाड़ी को स्थायी तौर पर बंद करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा। श्रीगंगानगर के सांसद निहालचंद ने महत्वपूर्ण रेलगाड़ी सुविधा छिन जाने से बचाने में पहल की और रेलमंत्री पीयूष गोयल को पत्र भेजकर रेलगाड़ी को सुपरफास्ट का दर्जा देकर श्रीगंगानगर से हावड़ा के मध्य 25 ठहराव का सुझाव दिया। इस्टर्न रेलवे ने इस पर कोई चर्चा नहीं की जिससे रेलगाड़ी को बंद करने के संकेत मिलते हैं।

ट्रेन बंद होने का कारण
ईस्टर्न रेलवे के सी पीटीएम की ओर से रेलवे बोर्ड को भेजे गये प्रस्ताव में रेलगाड़ी को बंद करने के पीछे जो मुख्य कारण बताये गए, उसमे श्रीगंगानगर से हावड़ा के मध्य 1973 किमी. के सफर में 112 स्टेशन पर ठहराव हैं। दूसरा बड़ा कारण कोहरे के दिनों में रेलगाड़ी को तीन महीने तक रद करना है। इसे बंद करने से हावड़ा में मेंटिनेंस के एक स्लॉट व 5 रैक की बचत होगी। वहीं दिल्ली से मुंबई तथा हावड़ा रूट पर लंबी दूरी की गाड़ियों को 130 किलोमीटर की रफ्तार से चलाने की योजना भी कारण हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें