पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेकाबू संक्रमण:निजी अस्पतालों में बनाए लेवल 3 बेड फुल, कोरोना मरीज हो रहे परेशान

बठिंडा3 महीने पहलेलेखक: संजय मिश्रा
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल में 40 बेड का नया वार्ड तैयार करने में जुटे कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल में 40 बेड का नया वार्ड तैयार करने में जुटे कर्मचारी।
  • मरीजों के परिजन अलग-अलग अस्पतालों के चक्कर लगाने को मजबूर, जिले के कोविड अस्पतालों में लेवल-2 के भी मात्र 105 बेड खाली बचे हैं, डीसी ने बढ़ाई आरक्षित बेडों की संख्या

जिले में पॉजिटिव केस बढ़ने के साथ ही बेड की शॉर्टेज भी शुरू हो गई है। शनिवार को जिले के कोविड अस्पतालों में लेवल-2 के 105 बेड खाली थे जबकि लेवल-3 के एक भी बेड खाली नहीं था। कई अस्पतालों में लेवल-2 के बेड फुल चल रहे हैं, जिसके चलते संबंधित अस्पतालों ने नए मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया है और कोरोना मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भेज रहे हैं, जबकि कई अस्पतालों में बेड लेने के लिए लोगों को सिफारिशें तक करवानी पड़ रही हैं।

जिसके चलते शनिवार को डीसी बठिंडा ने अलग-अलग अस्पतालों में आरक्षित किए गए लेवल 2 स्तर के 859 बेडों को बढ़ाकर 946 बेड कर दिया है। वहीं लेवल 3 के 211 बेड आरक्षित किए गए हैं। लेवल3 स्तर के किसी भी अस्पताल में बेड खाली नहीं है। केंद्र सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार ने देश में एक तरफ तीसरी लहर आने के दावे के बाद भविष्य को देखते हुए जिला प्रशासन व सेहत विभाग की ओर से पहली लहर की तरह फिर से कोरोना आइसोलेशन सेंटर व अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड तैयार बनाने की तैयारी शुरू कर दी है।

डीसी ने कहा-बेड बढ़ाए गए हैं
जिले के विभिन्न अस्पतालों में लेवल 2 और लेवल 3 स्तर वाले बेड के अलावा आक्सीजन सिलेंडर की किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। बेड बढ़ाए गए हैं। लोगों को दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।
बी श्रीनिवासन, डीसी बठिंडा

39 अस्पतालों में लेवल 2 के 946 और लेवल 3 के 211 बेड आरक्षित किए
डीसी ने कहा कि जिले के 39 अस्पतालों में लेवल 2 के 946 और लेवल 3 के 211 बेड आरक्षित किए हैं। जिसमें लेवल-2 के सिविल अस्पताल में 150, मिलिट्री अस्पताल में 36, एम्स में 30 और लेवल 3 स्तर के 10 बेड और कैंसर अस्पताल में 25 बेड आरक्षित किए गए हैं।

इसके अलावा 36 निजी अस्पतालों में शामिल आदेश अस्पताल में लेवल 2 स्तर के 110 बेड, लेवल 3 के 72, मैक्स अस्पताल में लेवल 2 के 36, लेवल 3 के 15, इंद्राणी अस्पताल में लेवल 2 के 15 और लेवल 3 के 10, निवारण अस्पताल में लेवल 2 के 10 और लेवल 3 के 3, सत्यम अस्पताल में लेवल 2 के 5 और लेवल 3 के 3 और प्रैग्मा अस्पताल में लेवल 2 के 16 बेड, अरुणा अस्पताल में लेवल 2 के 18, दिल्ली हार्ट में लेवल 2 के 80 और लेवल 3 के 50 बेड, आईवीवाई अस्पताल में लेवल 2 के 27 और लेवल 3 के 8 बेड, लाइफ लाइन अस्पताल में लेवल 2 के 11 और लेवल 3 के 3 बेड, मैडविन अस्पताल में लेवल 2 स्तर के 15 और लेवल 3 के 5 बेड, गोल्ड मेडिका में लेवल 2 के 17 और लेवल 3 के 5 बेड, एनएलमेडीसिटी में लेवल 2 के 27 बेड, ग्लोबल हेल्थ केयर में लेवल 2 के 20 और लेवल 3 के 7 बेड, मान अस्पताल में लेवल 2 के 11 और लेवल 3 के 3 बेड, चंडीगढ अस्पताल में लेवल 2 के 14 बेड, बडियाल अस्पताल में लेवल 2 के 15 और लेवल 3 के 5 बेड, बॉबे गैस्ट्रो में लेवल 2 के 18, खालसा मिशन में लेवल 2 के 10 बेड, गुरदेव मल्टी अस्पताल में लेवल 2 के 7 बेड, पंजाब कैंसर केयर अस्पताल में लेवल 2 के 22 और लेवल 3 के 15 बेड, बांसल कैंसर अस्पताल में लेवल 2 के 20 बेड, मैट्रो अस्पताल में लेवल 2 के 10 बेड, कालड़ा अस्पताल में लेवल 2 के 8 बेड, सिद्धू अस्पताल में लेवल 2 के 10 बेड, छाबड़ा अस्पताल में लेवल 2 के 15 और लेवल 3 के 5 बेड, कोस्मो अस्पताल में लेवल 2 के 10 बेड, रविंदरा अस्पताल में लेवल 2 के 10 बेड, बठिंडा न्यूराेस्पाइन एंड ट्रोमा सेंटर में लेवल 2 के 13 और लेवल 3 के 4 बेड, एमजी अस्पताल में लेवल 2 के 8 बेड, जीबिया मल्टी स्पैशिलिस्ट अस्पताल में लेवल 2 के 8 बेड, नवजीवन नर्सिंग होम में लेवल 2 के 10 बेड, न्यू सिटी अस्पताल में लेवल 2 के 10 बेड, सिंगला न्यूरो अस्पताल में लेवल 2 के 7 बेड आरक्षित किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...