वैक्सीन का टोटा:को-वैक्सीन की मात्र 350 और कोविशील्ड की 3350 वॉयल्स ही शेष

बठिंडा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

16 जनवरी से शुरू किया गया टीकाकरण अभियान अप्रैल माह से ठीक चल रहा है। जिसमें अब तक 99132 लोगों का टीकाकरण किया गया है।सरकार ने शहर में प्रतिदिन 8 हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया था, लेकिन जागरूकता के अभाव में यह लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा। वहीं जिले की टीकाकरण अभियान में समाज सेवी संस्थाओं के सहयोग से लक्ष्य के नजदीक है। बुधवार को 2817 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। विभाग के स्टाक में इन दिनों में को-वैक्सीन अब महज 350 वॉयल्स ही शेष बची हैं। जबकि कोविशील्ड की 3350 वॉयल्स उपलब्ध हैं। यदि वीरवार को तक वैक्सीन न आई तो शुक्रवार को समस्या आ सकती है। हालांकि सिविल सर्जन कार्यालय ने चंडीगढ़ से वैक्सीन का स्टाक मंगवाया है। दावा किया जा रहा है कि जल्द ही पर्याप्त मात्रा में डोज मिल जाएंगी।

एक मई से 18 से 45 आयु वर्ग से सभी लोगों के टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू होगी। सरकार ने सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगाने की घोषणा की है, लेकिन जिला स्तर पर इसकी आपूर्ति की रफ्तार कम है। सबसे बड़ी समस्या यह है कि एक मई को वैक्सीन लगाने वालों की संख्या तीन गुना अधिक हो सकती है। अभी प्रतिदिन औसतन 1500 से 3 हजार लोगों को टीका लग रहा है। विभाग का अनुमान है कि एक मई को कम से कम 5 हजार लोग रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इतनी संख्या में लोग आएंगे तो वैक्सीन की उपलब्धता भी जरूरी है। वहीं बुधवार को टीकाकरण प्रक्रिया दौरान 32 हेल्थ वर्कर, 1033 फ्रंट लाइन वर्कर, 45 से अधिक उम्र वाले 802 और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 402 लोगों का टीकाकरण किया गया। सिविल सर्जन डा. तेजवंत सिंह ढिल्लो ने बताया कि वैक्सीन की कमी नहीं है, डिमांड भेजी गई है।

खबरें और भी हैं...