पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोविड-19:कोरोना मरीजों से निजी एंबुलेंस संचालक वसूल रहे प्रति किलोमीटर 150 रुपए

बठिंडा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इधर, प्राइवेट एंबुलेंस संचालकों की मनमानी, 10 रुपए किमी. किराया पर

(संजय मिश्रा) कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा होने के बाद लोगों को 10-15 किमी की दूरी तय करने के लिए निजी एंबुलेंस को 1000 से 1500 रुपए तक का भुगतान करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। बठिंडा सिविल अस्पताल से बरनाला रोड पर स्थित आदेश अस्पताल तक कोविड-19 वाले मरीजों से 150 रुपए प्रति किलोमीटर चार्ज वसूला जा रहा है।

वहीं फरीदकोट व लुधियाना तक जाने के लिए 15 से 20 हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं। सरकार द्वारा इस पर नियंत्रण करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। वहीं एंबुलेंस चालकों के अनुसार कोरोना मरीजों को लेकर जाने में जोखिम बहुत है। वाशिंग व सेनेटाइज भी करवाना पड़ता है। सिविल अस्पताल में जो निजी एंबुलेंस खड़ी होती हैं, विभाग के पास इनका कोई डाटा नहीं है और न ही इनकी चेकिंग होती है। फिर चाहे एंबुलेंस अपने मानकों पर खरे उतरें या नहीं। इनमें ऑक्सीजन व वेंटीलेटर भी नहीं। फ्री सेवा: सड़क दुर्घटना, रेफरल केस, गर्भवती महिला और जच्चा-बच्चा के लिए सरकारी एंबुलेंस की सुविधा मुफ्त है। इसमें कोविड वाले मरीज भी शामिल है। सरकारी एंबुलेंस का सामान्य तौर पर 10 रुपए प्रति किलोमीटर किराया है।

फोन पर बात के लिए तैयार नहीं संचालक
रामपुराफूल वासी 75 वर्षीय वृद्ध सिविल अस्पताल के फ्लू कार्नर में कोरोना टेस्ट करवाने के लिए पहुंचा। परिजनों ने बताया कि उन्हें अचानक सांस लेने में दिक्कत आने लगी तो आदेश अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डाक्टरों ने कोरोना टेस्ट करवाने के लिए कहा। यहां तक आने के लिए प्राइवेट एंबुलेंस को 1500 रुपए देने पड़े। शुक्रवार को फरीदकोट जाने के लिए निजी एंबुलेंस संचालक से फोन पर संपर्क किया तो उसने 15 हजार की डिमांड की। लेकिन रेट और कम करने के लिए उसने भट्‌टी रोड स्थित स्टैंड पर बुलाया। साथ ही पहले कोविड की टेस्ट रिपोर्ट भी लाने को कहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें