पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड:पीएसईबी 10वीं ओपन के विद्यार्थियों को 11वीं क्लास में मिलेगा प्रोविजनल दाखिला

बठिंडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ओपन स्कूल के विद्यार्थियों का असेसमेंट डेटा न होने पर परीक्षा जरूरी पर संक्रमण में संभव नहीं

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं की मार्च 2020 की परीक्षा के लिए ओपन कैटेगरी के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थियों को 11वीं कक्षा में प्रोविजनल तौर पर दाखिला दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने इस श्रेणी में आते प्रदेश के लगभग 19 हजार जबकि बठिंडा के 900 से ज्यादा विद्यार्थियों की पढ़ाई खराब न होने देने के मकसद से यह फैसला किया है।

नियम के अनुसार हालात सामान्य होने पर जब भी बोर्ड परीक्षा कराई जाएंगी, इन विद्यार्थियों को उस परीक्षा में अपीयर होकर पास करना लाजिमी होगा, अन्यथा इनकी 11वीं कक्षा का दाखिला खत्म समझा जाएगा। शिक्षा सचिव की ओर से प्रदेश के तमाम स्कूलों में इस श्रेणी के बच्चों को प्रोविजन दाखिला करने के निर्देश दिए हैं। 10वीं रीअपीयर का फार्म भरने वाले विद्यार्थियों को भी 11वीं में प्रोविजनल दाखिला मिल सकेगा।

9600 से ज्यादा रेगुलर विद्यार्थी बिना एग्जाम पास
कोरोना के चलते पैदा हुए संकट में दसवीं के 9600 से ज्यादा रेगुलर विद्यार्थियों को प्रदेश सरकार की तरफ से बिना एग्जाम दिए ग्रेडिंग सिस्टम से पास कर दिया था जबकि ओपन स्कूल के विद्यार्थियों के लिए यह सुविधा लागू नहीं होने की वजह से ओपन स्कूल कैटेगरी की 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों का नतीजा घोषित नहीं किया है।

इस कैटेगरी के विद्यार्थियों की असेसमेंट आदि का डाटा भी उपलब्ध नहीं होने की वजह से इन्हें बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रोमोट नहीं किया जा सकता, ऐसे में ओपन स्कूल के अधीन पढ़ाई करने वाले दसवीं के विद्यार्थियों को एग्जाम देने पड़ेंगे। कोविड-19 के कारण इस समय परीक्षा लेना भी संभव नहीं है। देश में 22 मार्च से लॉकडाउन लगा, तब तक दसवीं का केवल एक ही पंजाबी का पेपर हुआ था।

काम के साथ पढ़ाई जारी रखने वालों के लिए है ओपन स्कूल
कामकाज के साथ पढ़ाई जारी रखने के इच्छुकों के लिए ओपन स्कूल में 10वीं और 12वीं क्लास की पढ़ाई का प्रावधान है। ओपन स्कूल के विद्यार्थी घर बैठे पढ़ाई करते हैं। पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड व अन्य बोर्ड की तरफ से ओपन शिक्षा प्रणाली के तहत हर साल बच्चों को भर्ती किया जाता है। इसके तहत जो विद्यार्थी दाखिला लेते हैं, उन्हें सिर्फ बोर्ड की फीस भरनी होती है और बोर्ड द्वारा जारी रोल नंबर के तहत उन्हें पेपर देना होता है।
प्रोविजनल दाखिले से पढ़ाई जारी रखी जा सकेगी : डिप्टी डीईओ इकबाल सिंह
प्रोविजनल दाखिला से ऐसे बच्चों की पढ़ाई जारी रखी जा सकेगी, इससे उनका एक साल बचेगा। ग्रेडिंग सिस्टम की सुविधा ओपन स्कूल के बच्चों पर लागू नहीं होती, इसलिए ओपन स्कूल के विद्यार्थियों को पेपर देने ही पड़ेंगे। रेगुलर विद्यार्थियों को पास करने का आधार स्कूलों में लिए जाने वाले हाउस टेस्ट को रखा गया जबकि ओपन स्कूल के विद्यार्थी ना तो स्कूल में पढ़ते हैं और न ही उन्होंने कभी हाउस टेस्ट दिया जिसके चलते यह सुविधा उन पर लागू नहीं होती। इकबाल सिंह बुट्‌टर, डिप्टी डीइओ बठिंडा

सरकारी स्कूल में दाखिला के लिए जरूरी नहीं है ट्रांसफर सर्टिफिकेट
शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़ाने के साथ-साथ आर्थिक तंगी से जूझ रहे अभिभावकों को प्राइवेट स्कूलों की भारी-भरकम फीस वसूली से मुक्त करने के लिए सरकारी स्कूलों में दाखिला के लिए ट्रांसफर सर्टिफिकेट को जरूरी नहीं ठहराया। शिक्षा सचिव के अनुसार अगर किसी विद्यार्थी को कोई प्राइवेट स्कूल ट्रांसफर सर्टिफिकेट देने में आनाकानी करे तो सरकारी स्कूल मुखी अपने विवेक से ऐसे विद्यार्थियों को दाखिला दे सकता है।

इन केसों में ट्रांसफर सर्टिफिकेट की कोई बंदिश नहीं होगी। संबंधित विद्यार्थियों के अभिभावकों से ऐसे विद्यार्थियों की पढ़ाई संबंधी लिखित में लिया जाए। वहीं बच्चों को ट्रांसफर सर्टिफिकेट देने से इनकार करने वाले विद्यार्थियों की सूची शिक्षा विभाग के हेड आफिस में सहायक डायरेक्टर संजीव शर्मा अथवा जिले के नोडल अफसर को दी जाए।

इसके अलावा जिन विद्यार्थियों के पास अपना जन्म सर्टिफिकेट नहीं है, ऐसे विद्यार्थियों को प्रोविजन आधार पर दाखिल कर लिया जाए। अनेक विद्यार्थियों के जन्म सर्टिफिकेट डिजी लॉकर पर उपलब्ध हैं। अगर इन विद्यार्थियों के सर्टिफिकेट डिजी लॉकर पर मिल जाते हैं तो इन विद्यार्थियों को प्रिंटेड सर्टिफिकेट पेश करने को मजबूर न किया जाए।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें