पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निकासी ठप:राइजिंग मेन प्रोजेक्ट करीब 2 साल से तैयार पहले रेलवे की मंजूरी नहीं, अब लटका काम

बठिंडा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाइनपार ठंडी सड़क पर सीवरेज लाइन 8 साल से खराब
  • 9 साल पहले आरसीसी लाइन को पुरानी ब्रिक सर्कुलर सीवरेज से जोड़ा गया था

मानसून में नगर निगम शहर को राहत देने को कई करोड़ की योजनाएं चला रहा है, लेकिन लाइनपार एरिया में एक महत्वपूर्ण सीवरेज राइजिंग मेन लाइन को बदलने की जहमत अभी तक किसी ने नहीं उठाई।

गोपाल नगर व परसराम नगर चौक से होते हुए करीब 2.5 किलोमीटर लंबी यह राइजिंग मेन रेलवे ठंडी सड़क से होकर संजय नगर से ग्रोथ सेंटर तक जाती है, लेकिन 2011 में साढ़े तीन फीट चौड़ी राइजिंग मेन बिछाई तो जरूर गई, लेकिन 40 साल पुराने ब्रिक सर्कुलर सीवरेज से अटैच करने के बाद यह सीवरेज लाइन कुछ ही माह बाद 80 फीसदी ठप हो गई जोकि आज तक वैसे ही पड़ी है।

इसे बदलने को बाद में सीवरेज विभाग ने प्रोजेक्ट जरूर बनाया, लेकिन रेलवे द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र को बताकर इस राइजिंग मेन को बदलने नहीं दिया गया तथा अब जब इस प्रोजेक्ट को बने हुए करीब 2 साल का समय हो चुका है, लेकिन करीब 2.5 किलोमीटर के हिस्से को बदलने का काम कब शुरू होगा किसी को जानकारी नहीं है। 

9 साल पहले आरसीसी लाइन को पुरानी ब्रिक सर्कुलर सीवरेज से जोड़ा गया था

करीब 40 साल पहले लाइनपार एरिया से पानी की निकासी को रेलवे ठंडी सड़क पर ब्रिक सर्कुलर सीवरेज लाइन बिछाई गई जो अपनी आयु के हिसाब से काम करती रही, लेकिन काफी समय तक इसकी सफाई नहीं होने तथा आयुकाल पूरा करने के बाद धीरे-धीरे इसकी क्षमता कम हो गई।

वर्ष 2011 में गोपाल नगर, जोगी नगर व परसराम नगर से राइजिंग मेन लाकर इसे रेलवे की पुरानी राइजिंग मेन की तरफ मोड़ दिया गया, लेकिन इस नई आरसीसी लाइन को पूरी बिछाने की बजाए इसे रेलवे इंस्टीट्यूट के पास पुराने ब्रिक सर्कुलर सीवरेज से जोड़ने के कुछ समय बाद ही यह प्रोजेक्ट ठप हो गया तथा एरिया की सीवरेज के पानी की निकासी बिल्कुल बंद हो गई। 

पुरानी लाइन बदलने का प्रोजेक्ट बनाया पर काम शुरू नहीं  

ठंडी सड़क स्थित करीब 2.5 किलोमीटर लंबी राइजिंग मेन बनाने को प्रोजेक्ट करीब दो साल से तैयार है, लेकिन काम शुरू नहीं हो पाया है।

परसराम नगर डिस्पोजल से इस लाइन को पक्के तौर पर प्लग किया गया है तथा सारा वेस्ट वाटर आलम बस्ती मोटर से वाया विश्वकर्मा गली होकर कैनाल कालोनी डिस्पोजल पर जाता है जहां से संजय नगर राइजिंग मेन के जरिए ग्रोथ सेंटर एसटीपी में डाला जाता है।

इस बाबत पूर्व मेयर बलवंत राय नाथ कहते हैं कि वर्ष 2015 में राइजिंग मेन को बिछाने का निर्देश दिया था, लेकिन नया बिछाने की बजाए डिसिल्टिंग करवा दी।

पूरी लाइन आरसीसी डाली जाती तो नहीं होती समस्या 

पूर्व पार्षद विजय कुमार कहते हैं कि 2011 में यह आरसीसी लाइन बिछाकर इसे रेलवे इंस्टीट्यूट के पास ब्रिक सीवरेज लाइन से जोड़ा गया, लेकिन यह एक भी दिन भी नहीं चली। अगर इसे पूरा आरसीसी बिछाया जाता तो इसमें समस्या नहीं होती।

पूर्व पार्षद सुखविंदर कौर व अश्वनी बंटी कहते हैं कि सीवरेज लाइन ठप होने से कई इलाकों में जलभराव की समस्या है। अगर इस राइजिंग मेन को ठीक किया जाता है तो सीवरेज पानी की निकासी की कोई समस्या नहीं रहेगी। अगर भविष्य में आलम बस्ती लाइन में कोई दिक्कत आती है तो गंदे पानी की कोई निकासी नहीं होगी। 

पूरे इलाके को मिलेगा लाभ

^ठंडी सड़क की राइजिंग मेन पूरे लाइन पार एरिया ही लाइफलाइन है, अगर यह ठीक होती तो इससे पूरे इलाके से पानी की तेजी से निकासी होनी थी। अब इस लाइन से बेहद कम मात्रा में पानी गुजरता है। अगर यह नई बिछ जाए तो इससे पूरे इलाके को तेज निकासी का लाभ होगा।
जगरूप गिल, चेयरमैन, जिला प्लानिंग बोर्ड, बठिंडा

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें