पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निर्माण में रुकावट:एसडीएम व तहसीलदार की मौजूदगी में रिंगरोड पर निजी जमीन की सेटेलाइट से पैमाइश, स्थगित चल रहा निर्माण

बठिंडा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बठिंडा रिंगरोड-1 प्रोजेक्ट के काम को लेकर एक्टिव हुआ प्रशासन, अड़चनों को हटाने का कर रहे प्रयास

जमीन विवादों से निकलकर धरातल पर रूप ले चुकी रिंग रोड 1 की मुश्किलें हाल फिलहाल इतनी आसानी से खत्म होती नजर नहीं आ रही हैं। नवंबर 2019 में वित्तमंत्री मनप्रीत बादल के इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन किए जाने के बाद एक बड़े हिस्से में कई टुकड़ों में सड़क का निर्माण हो चुका है, लेकिन यह सड़क हाल फिलहाल पूरी हो जाएगी ऐसा नजर नहीं आ रहा है। वीरवार को सड़क निर्माण में दो बड़ी बाधाएं, जिसमें रैना टीसीपी के नजदीक करीब 8 एकड़ प्राइवेट जमीन के मालिक का रिंगरोड पर जमीन आने के दावे के मध्य प्रशासन द्वारा सेटेलाइट मैपिंग की गई, वहीं मॉडल टाउन जलघर के नजदीक करीब 40 से 42 मकान हटाने को लेकर योजना प्रारंभिक चरण में है।

एसडीएम अमरिंदर सिंह टिवाणा व तहसीलदार सुखवीर बराड़ की मौजूदगी में बीएंडआर व तहसील टीम ने मौके पर जमीन की पैमाइश को सेटेलाइट सिस्टम का प्रयोग कर आंकड़े हासिल कर लिए हैं जिसे रिव्यू करने के बाद शुक्रवार को एसडीएम बठिंडा को सौंपा जाएगा ताकि रिंगरोड पर जमीन की मलकीयत का मामला सुलझाया जा सके।

दीवाली से पहले रिंगरोड के काम को पुन गति देने का प्रयास

रिंगरोड वन का टेंडर अगस्त 2019 में अवार्ड करने के बाद करीब 17.5 करोड़ की कीमत से बठिंडा में बनाई जा रही 4.7 किलोमीटर लंबी 4 लेन रिंगरोड - 1 में जहां अभी रेलवे अंडरब्रिज (आरयूबी) का निर्माण होना है, वहीं इस रोड पर प्राइवेट जमीन की पैमाइश का मामला अभी पूरी तरह सुलझा नहीं है। करीब 45 एकड़ की यह बड़ी रोड में 7 एकड़ जमीन 2019 में प्रशासन द्वारा सीधे लोगों से खरीद ली गई, लेकिन इस रोड में अभी भी दो जगह जमीन की मलकीयत का मुद्दा प्रशासन को परेशान कर रहा है।

वीरवार को प्रशासनिक टीम एसडीएम अमरिंदर सिंह टिवाणा के नेतृत्व में रिंगरोड पर पहुंची तथा सेटेलाइट इमेजिंग तकनीक की मदद से जमीन की पैमाइश का काम शुरू कर दिया जो करीब दिन भर जारी रहा। अब सेटेलाइट से मिले आंकड़ों व जमीन रिकार्ड को सिस्टम में लाने के बाद जमीन के सही साइज का आंकलन कर लिया जाएगा। विभाग के अनुसार प्राइवेट लैंड ऑनर की करीब 38 बीघा व 2 बिस्वा जमीन है जिसमें इन आंकड़ों से जमीन की सही पैमाइश सामने आ जाएगी। प्राइवेट जमीन पूरी होने पर प्रशासन वहां निशानदेही करेगा ताकि रिंगरोड का काम सुचारू किया जा सके। वहीं जमीन के रिंगरोड में आने पर प्रशासन बनती कार्रवाई करेगा। प्रशासन का प्रयास दिवाली से पहले रिंग रोड के काम को गति देने है।

प्रोजेक्ट का काम जल्द शुरू करवाना है टारगेट

वीरवार को रिंगरोड के मध्य आती जमीन का सेटेलाइट इमेजिंग के जरिए ब्यौरा हासिल कर एक्सपर्ट टीम आंकड़ों का विश्लेषण करेगी। जमीन मालिक की रजिस्ट्री अनुसार जमीन पूरी की जाएगी। आंकडे देखने के बाद ही जमीन की निशानदेही की जाएगी। हमारा टारगेट रिंगरोड का काम जल्द शुरू करवाना है।
अमरिंदर सिंह टिवाणा, एसडीएम,

घरों को हटाना होगा चुनौती

रिंगरोड पर इससे करीब एक किलोमीटर दूर करीब 40 से 42 घर आते हैं जिन पर पुडा का दावा है कि यह जमीन उनकी है तथा इसके लिए लोगों से जमीन की रजिस्ट्री मांगी गई है ताकि मलकीयत का फैसला हो सके, लेकिन अभी इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। ऐसे में अगर यह जमीन क्लियर हो भी जाती है तो रिंगरोड का चलना अभी तय नहीं है. वही उस जमीन की पैमाइश के बाद सड़क के मध्य से बड़ी अड़चन हटने की संभावनाएं बढ़ जाएगी। इस बाधा के हटने से शहर से पटियाला रोड की और जाना आसान हो जाएगा

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें