पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • Students Searching For Cafe To Remove New Admit Card From Website, Tears Spilled On Late Entry, St. Xavier's School Was Built On The Occasion Of 300 Students Of KV 1

नीट एग्जाम:वेबसाइट से नए एडमिट कार्ड निकालने को कैफे ढूंढते रहे छात्र, लेट एंट्री पर छलके आंसू, ऐन मौके पर सेंट जेवियर्स स्कूल बनाया केवी- 1 के 300 छात्रों का सेंटर

बठिंडा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलवे की चलाई दोनों स्पेशल ट्रेनों से पहुंचे मात्र 141 छात्र, 12 प्रतिशत रहे परीक्षा में गैरहाजिर

कोरोना संक्रमण के बीच हिम्मत करके अभिभावक अपने बच्चों को रविवार को नीट का पेपर दिलाने को राजी हुए लेकिन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से ऐन मौके पर एग्जाम सेंटर तब्दील करने से बच्चे व अभिभावक बेचैन हो उठे जबकि बच्चों की आंखें नम हो गई। हालांकि स्कूल प्रबंधकों की ओर से मामले की गंभीरता को समझते हुए रियायत दी और देरी से पहुंचे बच्चों को भी एग्जाम सेंटर में प्रवेश दिया जबकि 1.30 बजे गेट बंद कर दिए गए थे। यही नहीं, एग्जाम सेंटर के नाम भी एक समान होने से भी विद्यार्थियों को परेशान होना पड़ा। नीट का आर्मी छावनी स्थित केंद्रीय विद्यालय नंबर 1 का सेंटर ऐन मौके पर बदल दिया गया, इस सेंटर में 600 विद्यार्थियों ने अपीयर होना था, लेकिन स्कूल प्रबंधक क्षमता न होने का हवाला देते हुए 300 बच्चों तक ही परीक्षा करवाने काे माने। इस पर एनटीए की ओर से अगले 300 बच्चों को मॉडल टाउन बठिंडा के सेंट जेवियर्स स्कूल में सेंटर बनाकर वहां शिफ्ट कर दिया गया।

विद्यार्थी अपने एडमिट कार्ड में दर्ज एग्जाम सेंटर केवी नंबर 1 के लिए आर्मी कैंट के थमैया द्वार पहुंचे जहां उन्हें उनके सेंटर तब्दील होने व इस सेंटर के विद्यार्थियों को नए एडमिट कार्ड वेबसाइट पर डाले जाने की जानकारी मिली। अचानक से सेंटर बदलने से विद्यार्थी बेचैन हो गए, बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए अभिभावकों ने लॉकडाउन के बीच बंद बाजार में जैसे-तैसे वेबसाइट से नया एडमिट कार्ड अपलोड करके फोटो लगाकर बदले हुए सेंटर में देरी से पहुंचे तो प्रवेश के लिए एतराज उठने पर बच्चे रो पड़े।

मॉडल टाउन फेज टू के एग्जाम सेंटर सेंट जेवियर्स स्कूल में ऐसे बच्चों को 1.30 की बजाए 1.35 बजे तक प्रवेश दिया गया लेकिन फरीदकोट के अमन सिंगला 1.40 पर सेंटर पहुंचे तो गेट बंद था जबकि सिक्योरिटी ने प्रवेश कराने में असमर्थता जताई। अमन की आंखों में पानी आ गया, किसी परिचित के जरिए उन्होंने स्कूल प्रबंधकों तक संदेश पहुंचाया तो एहतियात बरतते हुए बच्चे को 1.52 बजे भी दाखिला दिया।

सेंटर के एक जैसे नाम से भी असमंजस में रहे विद्यार्थी

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से नीट के सेंटरों में फेरबदल करना भी नई मुसीबत बना। बठिंडा जिले में बनाए 11 में से दो सेंटरों के नाम मिलते-जुलते थे, लेकिन आयोजकों ने इस पर गंभीरता नहीं दिखाई। बठिंडा के सेंट जेवियर्स स्कूल जबकि रामपुराफूल में भी सेंट जेवियर्स स्कूल को एग्जाम सेंटर बनाया गया।

बाहरी शहरों से पहुंचने वाले अधिकांश विद्यार्थी बठिंडा के मॉडल टाउन स्थित सेंट जेवियर्स स्कूल में जा पहुंचे जहां गेट पर चेकिंग के दौरान उन्हें रामपुराफूल के स्कूल की जानकारी मिलने पर बौखलाहट में भागना पड़ा। स्कूल के मेन गेट पर अलग-अलग लाइनों में लगे छात्र-छात्राओं को बार-बार अनाउंस करके अपने एडमिट कार्ड पर सेंटर स्कूल का नाम अच्छी तरह से तस्दीक करने को आगाह किया जाता रहा।

श्रीगंगानगर ट्रेन से 95, भिवानी से 46 बच्चे पहुंचे
अंबाला व बीकानेर डिविजन की ओर से राजस्थान व हरियाणा के विद्यार्थियों के लिए चलाई 12-12 कोच की रेलगाड़ियों में सिर्फ 141 बच्चे ही सफर करके बठिंडा पहुंचे। श्रीगंगानगर से वाया अबोहर, मलोट होकर बठिंडा पहुंची रेलगाड़ी में 95 जबकि भिवानी से हांसी, हिसार, आदमपुर, सिरसा, कालांवाली, रामां से 46 बच्चे ही बठिंडा आए। रेलवे की ओर से प्रचार-प्रसार के अभाव में दूरदराज के सैकड़ों विद्यार्थी एग्जाम स्पेशल ट्रेन का फायदा नहीं ले पाए, उन्हें अपने वाहनों के जरिए बठिंडा आना पड़ा।
4400 छात्रों ने दी परीक्षा
सभी सेंटरों से एकत्र डेटा के अनुसार 12 प्रतिशत विद्यार्थी ही किसी न किसी कारण से पेपर देने नहीं पहुंचे जबकि लगभग 4400 विद्यार्थियों ने यह परीक्षा दी। निर्धारित 5 बजे पेपर देकर सेंटर से बाहर आए विद्यार्थियों ने अपने अभिभावकों के पांव छूकर अपनी खुशी जाहिर की। विद्यार्थियों के अनुसार पेपर ओवरआल ठीक रहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें