पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विरोध:मांगें लागू करवाने काे आवारा पशु संघर्ष कमेटी ने 2 अक्टूबर को राेष मार्च का किया एलान

मानसा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 13 सितंबर 2019 में 39 दिन मानसा में धरना लगाकर मांगें मनवई गई थीं

आवारा पशुओं की समस्या के हल के लिए आवारा पशु संघर्ष कमेटी मानसा द्वारा विगत साल 13 सितंबर से लगातार मानसा में 39 दिन के धरना लगाकर मनवाई गई मांगें न लागू होने के चलते एक बार फिर इस मामले पर गांधी जयंती के दिन शहर में रोष मार्च करते जिला प्रशासन को मांगपत्र देने का फैसला किया गया है।

उस समय इस आंदोलन में भगवंत मान सदस्य लोकसभा, सुखपाल सिंह खैहरा पूर्व नेता विरोधी गुट, जगमीत सिंह बराड़ उपप्रधान शिरोमणि अकाली दल (बादल), अमन अरोड़ा, धर्मवीर गांधी पूर्व सांसद, हरदेव सिंह अर्शी सीपीआई ने शिरकत की, जिस कारण पंजाब सरकार द्वारा आवारा पशु संघर्ष कमेटी के सदस्यों को चंडीगढ़ बुलाया।

अमृत गिल सचिव टू सीएम पंजाब ने लाल सिंह चेयरमैन मंडीकरण बोर्ड व डीसी मानसा की हाजिरी में बैठक करके संघर्ष कमेटी की मांगों को मान लिया था, लेकिन एक साल बीत जाने के बाद इन बातों में से किसी भी बात पर कोई अमल नहीं हुआ, जिस कारण आवारा पशु संघर्ष कमेटी द्वारा कमेटी की जरूरी बैठक 13 सितंबर को हर-हर महादेव मंदिर में करते 17 सितंबर को डीसी मानसा व एसएसपी मानसा को इस मामले संबंधी मिलकर इस समझौते को लागू करने के लिए 15 दिन का समय देने के साथ यदि अगर 15 दिनों के अंदर-अंदर यह समझौता लागू न किया तो 2 अक्टूबर को गांधी जयंती वाले दिन गुरुद्वारा चौक मानसा में शहरवासियों के साथ मिलकर रोष मार्च निकालने का फैसला किया गया।

बैठक को संबोधित करते मनीष बब्बी दानेवालिया व पंजाब किसान यूनियन के प्रधान रुलदू सिंह मानसा ने कहा कि अगर आवारा पशु संघर्ष कमेटी की मांगें न मानी गई और पंजाब सरकार द्वारा इस कमेटी के साथ किया गया यह लोक हित समझौता लागू न किया गया तो 2 अक्टूबर के रोष मार्च के बाद पक्का मोर्चा भी लगाया जाएगा, जिसका फैसला इस रोष मार्च के बाद की जाने वाली बैठक में किया जाएगा।

इस बैठक में गुरलाभ सिंह माहल एडवोकेट, सुरेश नंदगढिय़ा व जतिंद्र आगरा ने कहा कि कैप्टन अमरिंद्र सिंह मुख्यमंत्री पंजाब के बेटे ने खुद आगे आकर सरकार से मांगें भी मंजूर करवा दी थी लेकिन उसके बाद पंजाब सरकार के अफसरों व संबंधित विभागों द्वारा इसको अमल में नहीं आने दिया गया जिस कारण उनको मजबूर होकर 1 साल का समय बीतने के बाद दोबारा संघर्ष की ओर जाना पड़ रहा है क्योंकि पिछले एक साल दौरान मानसा में तैनात रहे तीनों डिप्टी कमिश्नरों को कई बार मिला जा चुका हैं और इस मसले के हल के लिए अपील की जा चुकी है, लेकिन इसके हल की ओर किसी द्वारा कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। बैठक में कौर कमेटी के सदस्य बोघ सिंह, डॉ. धन्ना मल गोयल, सुरेश नंदगढ़िया अध्यक्ष करियाना एसोसिएशन, कामरेड कृष्ण चौहान, बिक्कर सिंह मघानिया आदि हाजिर रहे और कौर कमेटी के सदस्य डॉ. जनकराज, मनजीत सिदयोड़ा सचिव व्यापार मंडल मानसा व प्रेम अग्रवाल द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये इस बैठक में भाग लिया गया। इसके अलावा बैठक में करनैल सिंह, सुखचरण दानेवालिया व उग्गर सिंह आदि मौजूद थे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें