पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मीटिंग हुई:शहर में बरसाती पानी की निकासी की नहीं आएगी समस्या

बठिंडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बरसाती पानी की निकासी के लिए अग्रणी प्रबंधों को लेकर हुई बैठक, प्रशासन का दावा

जिला प्रशासन का दावा है कि इस बार मानसून में आने वाली बरसात में शहर में कहीं भी जलभराव की समस्या नहीं आएगी बल्कि पानी की निकासी तुरंत प्रभाव से होगी। वीरवार को जिला प्रशासन की ओर से आगामी बारिश के सीजन में पानी की निकासी के अग्रणी प्रबंधों की समीक्षा करते हुए कहा कि शहर में विभिन्न डिस्पोजलों पर लगाई गई मोटरों की क्षमता दोगुणा की गई है।

डीसी ने बैठक के दौरान बरसाती पानी की निकासी के लिए शहर में संजय नगर, डीएवी कॉलेज व वक्फ लैंड में बने छप्पड़ के अलावा जिले में पड़ती तमाम ड्रेनेज व नहरों की मौजूदा स्थिति का भी जायजा लिया। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों के आदेश दिए कि जरूरत प्रबंध करने में कोई लापरवाही न बरती जाए तथा यह यकीनी बनाया जाए कि बरसात की शुरुआत से पहले सारे इंतजाम मुकम्मल कर लिए जाएं। डीसी ने जिला स्तर के अलावा उपमंडल स्तर पर जरूरी प्रबंध मुकम्मल करने के लिए संबंधित एसडीएम को भी आदेश देते हिदायत दी कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए संपर्क प्लान के तहत सारे अधिकारी-कर्मचारियों के फोन नंबर समेत सूचना तैयार की जाए तथा बाढ़ की रोकथाम के लिए जरूरी सामान का इंतजाम किया जाए।

बैठक में नगर निगम कमिश्नर बिक्रमजीत सिंह शेरगिल ने कहा कि नगर निगम की ओर से बरसाती पानी की निकासी के लिए अग्रणी पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पानी की निकासी के लिए शहर में विभिन्न डिस्पोजलों पर लगी मोटरों की क्षमता पहले से दोगुणा कर दी गई है। बैठक में एसडीएम तलवंडी साबो वरिंदर सिंह, एसडीएम रामपुरा नवदीप कुमार, एसडीएम मौड़ वीरपाल कौर, जिला विकास व पंचायत अफसर नीरू गर्ग, तहसीलदार सुखवीर सिंह बराड़ समेत अन्य विभागों के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...