पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काेराेना के साथ डेंगू का डंक:मौसम बदलने के साथ बढ़ने लगे वायरल व डेंगू के केस, 146 लोग डेंगू पॉजिटिव

बठिंडा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल अस्पताल में रोजाना आ रहे खांसी-जुकाम के 40 से 50 मरीज

कोरोना मरीजों के साथ अब मौसम में बदलाव के चलते वायरल और डेंगू एक्टिव हो गया है। सिविल अस्पताल की ओपीडी में रोजाना 550 से अधिक लोग पहुंच रहे हैं। ओपीडी में 40 से 50 वायरल खांसी-जुकाम से पीड़ित हैं। बाकी कोरोना की जांच के लिए टेस्ट करवाने वाले संदिग्ध मरीज शामिल हैं।

वर्तमान में जिले में इस बार कोरोना के साथ-साथ डेंगू का डंक भी एक्टिव हो गया है। सेहत विभाग के अनुसार इस सीजन में अस्पताल की लैब में 325 संदिग्ध डेंगू मरीजों के सैंपल लिए गए, जिसमें अब तक 146 डेंगू मरीजों की पुष्टि हुई है।

इन दिनों सिविल अस्पताल के फर्स्ट फ्लोर पर स्थित वार्ड नंबर 113 को डेंगू वार्ड बनाया गया है जिसमें डेंगू के 10 मरीज इलाज के लिए दाखिल है। वहीं वार्ड नंबर 121 में वायरल फीवर के 10 मरीज दाखिल है, इन मरीजों में डेंगू की पुष्टि तो नहीं है लेकिन सभी मरीजों के प्लेटलेट्स सेल कम है, इसके अलावा कई लोग शहर के प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करवा रहे हैं, ऐसे मरीजों को प्लेटलेट्स चढ़ाने के लिए ब्लड की डिमांड भी दोगुना बढ़ गई है।

सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक की बात करें तो यहां एसडीपी मशीन उपलब्ध होने के बावजूद लोग यहां से प्लेटलेट्स सेल नहीं ले रहे। जबकि रोजाना सिविल अस्पताल और प्राइवेट अस्पतालों में ट्रीटमेंट करवा रहे डेंगू पॉजिटिव और संदिग्ध 10 से 15 लोगों को प्लेटलेट चढ़ रहे हैं।

वहीं शहर के एक प्राइवेट लैब से प्रतिदिन 35 से 40 और शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में बने ब्लड बैंक से 10 से 15 ब्लड युनिट की खपत हो रही है। वहीं सिविल अस्पताल प्रबंधन ब्लड बैंक से डिमांड के अनुसार ब्लड इश्यू न होने व प्लेटलेट्स सेल की कमी के बारे में सही स्थिति की जानकारी प्राप्त करने में भी गंभीरता नहीं दिखा रहा। जिस कारण लोग निजी ब्लड से महंगे रेट में प्लेटलेट्स सेल लेने के लिए मजबूर हो रहे हैं।

डेंगू के लक्षण और बचाव

सीएमओ डा. अमरीक सिंह संधू ने लोगों से कहा कि पूरी बाजू वाले कपड़े पहनें, कूलर, गमलों और टंकियां साफ रखें। विटामिन की युक्त खाद पदार्थों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें। घर में पड़ी कोई दवा अपनी मर्जी से न लें। भूख न लगना, थकावट, खांसी, शरीर टूटना वायरल बुखार के मुख्य लक्षण हैं। वहीं, डेंगू बुखार में सिर और जोड़ों में दर्द होती है। उल्टी आना, आंखों में जलन और शरीर पर लाल निशान पड़ते जाते हैं।

खबरें और भी हैं...