अब तो संभल जाओ:संगरूर में कोरोना से एक ही दिन में 12 लोगों की मौत, 10 मरीजों को सांस लेने में थी दिक्कत, मृत्यु दर 3.9 तक पहुंची

संगरूर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 153 नए केस मिले, सबसे अधिक संगरूर ब्लॉक से 41, अब तक 328 की जा चुकी है जान, चार दिनों में ही 35 ने तोड़ा दम, एक्टिव 1270

वीरवार जिले के लिए कोरोना काल का सबसे बुरा दिन रहा है। वीरवार को पहली बार एक ही दिन में 12 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ दिया है। जबकि 153 नए मरीज मिले हैं। मृतकों में 44 वर्ष से लेकर 73 वर्ष तक के बुजुर्ग शामिल हैं। इनमें 8 की पटियाला के राजिंदरा अस्पताल और 3 मरीजों ने संगरूर के सिविल अस्पताल में दम तोड़ा है। ब्लॉक शेरपुर के 44 वर्षीय व्यक्ति, सुनाम के 57 वर्षीय व्यक्ति, संगरूर की 62 वर्षीय बुजुर्ग महिला, शेरपुर के 50 वर्षीय व्यक्ति, संगरूर के 62 वर्षीय बुजुर्ग, लौंगोवाल के 60 वर्षीय बुजुर्ग, संगरूर के 52 वर्षीय व्यक्ति, भवानीगढ़ के 58 वर्षीय व्यक्ति की पटियाला के राजिंदरा अस्पताल, धूरी की 50 वर्षीय महिला, लौंगोवाल के 70 वर्षीय बुजुर्ग, भवानीगढ़ के 73 वर्षीय बुजुर्ग की संगरूर के सिविल अस्पताल व लौंगोवाल के 65 वर्षीय बुजुर्ग की पटियाला के मिलिट्री अस्पताल में मौत हुई है। 10 मृतकों के फेफड़े खराब होने के कारण ऑक्सीजन स्तर गिर गया था। कोरोना से मरने वालों की संख्या 328 तक जा पहुंची है। जिले में मौत की दर 3.9 तक पहुंच गई है। पिछले 4 दिनों में 35 मरीजों की जान गई है।

दुखद : चिताएं बुझी नहीं कि नई जलानी पड़ रहीं

संगरूर के उभावाल रोड स्थित श्मशानघाट की बात की जाए तो वीरवार को 10 मृतकों के संस्कार किए गए है जिसमें 4 कोरोना मृतकों के किए गए हैं। हालात ऐसे नजर आए कि चिंताएं बुझ भी नहीं रही थी कि नई चिताओं को अग्नि दी जा रही थी। एक समय ऐसा था जब 6 चिताएं एक साथ जा रहीं थी।

आइसोलेशन वार्ड के प्रबंधन से परिजन नाराज

आइसोलेशन वार्ड में वर्तमान समय में 43 मरीज दाखिल हैं। 25 को ऑक्सीजन स्पॉट पर रखा गया है। 17 बेड अभी मरीजों के लिए खाली हैं परंतु कई मरीजों के परिजन वार्ड के प्रबंधन से कड़े नाराज नजर आ रहे हैं। वीरवार को वार्ड के बाहर खड़े परिजनों ने बताया कि अंदर दाखिल उनके मरीज की हालत कैसी है इस सबंधी उन्हें कुछ नहीं बताया जा रहा है। रात के समय मरीजों की देखरेख करने वाला नहीं है। स्टाफ की कमी है। महिला ने बताया कि पति अंदर दाखिल हैं। सुबह से पति को देखने के लिए खड़ी रही, लेकिन दिखाया नहीं गया।

एसएमओ डॉ. बलजीत सिंह बोले-स्टाफ की कमी नहीं

सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. बलजीत सिंह का कहना है कि वार्ड में अधिकतर मरीजों की हालत गंभीर है। स्टाफ की कोई कमी नहीं है। मरीजों की पूरी देखरेख की जा रही है। ऑक्सीजन भी लगातार उनके पास पहुंच रही है। किसी भी मरीज को परेशानी नहीं आने दी जाएगी।

दो दिन से पॉजिटिव के मुकाबले ज्यादा ठीक हो रहे

वीरवार को 163 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। जिले में अब तक 6792 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। दो दिनों से पॉजिटिव मरीजों की संख्या से अधिक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक है। अच्छी खबर यह भी है कि जिले में ऑक्सीजन की कमी भी नहीं है। वीरवार को 100 सिलेंडर और वार्ड में पहुंच चुके हैं। पॉजिटिव मरीजों में सबसे अधिक संगरूर ब्लॉक में 41, सुनाम 21, लौंगोवाल 18, मालेरकोटला 16, मूनक 16, धूरी 14, फतेहगढ़ पंजगराइयां 8, अमरगढ़ 7, शेरपुर 5, कोहरियां 4, भवानीगढ़ 2 और अहमदगढ़ में 1 मरीज पाया गया है। जिले में अब कोरोना मरीजों की संख्या 8390 तक जा पहुंची है। जिसमें 1270 मरीज एक्टिव हैं।

खबरें और भी हैं...