पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

संगरूर:आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान विजय कालड़ा ने जिले के आढ़तियों को किया संबोधित, बोले-एफसीआई ने आढ़तियों की 105 करोड़ की अदायगी रोकी

संगरूरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 21 अगस्त को जिला मुख्यालयों पर एफसीआई दफ्तरों के सामने प्रदर्शन करेंगे आढ़ती

फेडरेशन ऑफ आढ़ती एसोसिएशन के राज्य प्रधान व मंडी बोर्ड के उप चेयरमैन विजय कालड़ा ने कहा है कि एफसीआई ने पंजाब के समूह आढ़तियों के वर्ष 2014-15 और 2015-16 का 100 करोड़ रुपए से अधिक बकाया राशि की अदायगी नहीं की है। इसमें आढ़तियों की ओर से मजदूरों को दी गई लेबर, आढ़त और अन्य खर्च शामिल हैं। एफसीआई ईपीएफ का बहाना बनाकर अदायगी दबा कर बैठी है, जबकि आढ़तियों का ईपीएफ से कोई संबंध नहीं है। विजय कालड़ा शनिवार को शहर की अनाज मंडी में आढ़तियों से बैठक करने पहुंचे थे।

इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुुए कहा कि इस सीजन में पंजाब में 128 लाख मिट्रिक टन गेहूं की पैदावार हुई थी। 15 लाख मिट्रिक टन एफसीआई जबकि 113 लाख मिट्रिक टन अन्य एजेंसियों की ओर से खरीद की गई है। परंतु अभी तक एफसीआई ने अपनी की गई खरीद की 105 करोड़ रुपए की अदायगी नहीं की है। वह खुद तीन बार एफसीआई पंजाब के जनरल मैनेजर से मिल चुके हैं, फिर भी अदायगी नहीं की जा रही है।

ऐसे में अब पंजाब के समूह आढ़तियों ने एफसीआई के विरूद्ध संघर्ष की रूपरेखा तैयार की है। 21 अगस्त को 11 से 1 बजे तक पंजाब के जिला मुख्यालयों में एफसीआई दफ्तरों समक्ष काले बिल्ले लगाकर प्रदर्शन किया जाएगा। बावजूद अदायगी नहीं की गई तो 1 सितंबर को एफसीआई के जोनल दफ्तर के समक्ष धरना दिया जाएगा।

जिसमें पूरे पंजाब से आढ़ती शामिल होंगे। 1 अक्तूबर से पंजाब की मंडियों में धान की फसल की खरीद नहीं होने दी जाएगी। कारोबार को ठप किया जाएगा। केन्द्र के नए अध्यादेश में विरोध में आढ़ती 16 अगस्त को पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और चंडीगढ़ के आढ़तियों की साझी बैठक करेंगे। मौके पर जगतार सिंह समरा, सोम नाथ बांसल, सुखविंदर सिंह, जसविंदर शेरपुर, विनय गर्ग मूनक, जय भगवान खनौरी, हरजीत मालेरकोटला, मोहम्मद साजिद गोरा, सुरिन्द्र अहमदगढ़ आदि उपस्थित थे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सक्षम और सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। कुछ समय से चल रही चिंताओं से राहत मिलेगी। परिवार के लोगों की हर छोटी-मोटी जरूरतें पूरी करने में आपको आनंद आएगा। अचानक ही किसी ...

और पढ़ें