• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • Sangrur
  • Advice To Farmers Do Not Burn Stubble, It Increases Pollution, Due To The Destruction Of Nutrients In The Soil, It Also Affects The Nutritional Value Of Plants.

किसान जागरूकता कैंप का आयोजन:किसानों को सलाह-पराली न जलाएं, इससे प्रदूषण बढ़ता है, जमीन में खुराक तत्व नष्ट होने से पौधों की पौष्टिकता पर भी पड़ता है असर

संगरूर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसानों को पराली संभालने वाली मशीनरी की जानकारी देते खेती माहिर। - Dainik Bhaskar
किसानों को पराली संभालने वाली मशीनरी की जानकारी देते खेती माहिर।
  • कृषि विज्ञान केंद्र खेड़ी ने पराली संभाल पर किसान जागरूकता कैंप लगाया

कृषि विज्ञान केन्द्र खेड़ी की ओर से धान की पराली की संभाल और आगामी सीजन की फसलों के बीजों के बारे में एक दिवसीय किसान सिखलाई कैंप लगाया गया। कैंप दौरान केन्द्र के सहयोगी निदेशक (सिखलाई) डॉ. मनदीप सिंह ने किसानों को धान की पराली को आग न लगाने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने किसानों को पराली को खेत में ही संभालने और गेहूं की नवीन किस्मों व पराली में बीजी जाने वाली गेहूं के काश्त के बारे में अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि पराली को जलाने से जहरीली धुआं व गैस पैदा होती है और जमीन में खुराक तत्व नष्ट होने के कारण पौधों की पौष्टिकता का नुकसान होता है।

पराली जलाने से मिट्टी की उपजाऊ शक्ति कम होती है और मनुष्य, जानवर, पक्षियों की सेहत पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। इस मौके पर सहायक प्रोफैसर (खेतीबाड़ी इंजीनियर) डॉ. सुनील कुमार ने किसानों को पराली की संभाल के लिए उपलब्ध खेती मशीनरी स्मार्ट सीडर, सुपर सीडर, हैपी सीडर, मल्चर, चौपर आदि के बारे में जानकारी दी। अंत में किसानों को पराली संभालने संबंधी साहित्य भी वितरित किया गया।

खबरें और भी हैं...