पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

केस दर्ज:मालेरकोटला में अवैध संबंधों के चलते लड़के की हत्या, दंपति पर पर्चा दर्ज

संगरूर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मां का आरोप- बेटे के विवाहिता से थे नाजायज संबंध पति करता था झगड़ा, जहर देकर मारा
  • दंपति पर हत्या का मामला दर्ज : एसएचओ

एक दंपति द्वारा 17 वर्षीय नाबालिग लड़के को जहरीली दवा देकर मारने के आरोप में पुलिस ने माामला दर्ज किया है। मृतक की मां का आराेप है कि विवाहिता के उसके नाबालिग बेटे से नाजायज संबंध थे। ऐसे में बेटा दंपति के घर पर ही रहने लगा था। विवाहिता का पति संबंधों को लेकर झगड़ा करता था।

ऐसे में दंपति ने मिलकर बेटे को जहर देकर मार दिया है। ऐसे में पुलिस ने आरोपी दंपति के विरूद्ध हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

गांव नुसैहरा निवासी खलीला बेगम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि उसके दो बेटे हैं। बड़ा बेटा यामीन उर्फ इरफाज 17 वर्ष और छोटा बेटा इरफान खान 10 वर्ष का है।

यामीन मजदूरी का काम करता था। मेहनत और मजदूरी करने के बाद प्रतिदिन शाम को घर आ जाता था। करीब 5-6 माह पहले यामीन के संबंध गांव भसौड़ निवासी जगसीर सिंह की पत्नी सुखविंदर कौर के साथ बन गए थे।

करीब 10-11 दिन से सुखविंदर अपने पति जगसीर सिंह के साथ मालेरकोटला के कसाईयां वाले मोहल्ले में किराये के मकान में रहने लगी थी। उसी दिन से यामीन सुखविंदर कौर के साथ ही रहता था और घर नहीं आ रहा था। 

उसके समझाने पर भी बेटा सुखविंदर कौर के साथ रहने से नहीं हटा था। उसने सुखविंदर कौर को भी समझाया था कि वह शादीशुदा है और उसके नाबालिग बेटे का पीछा छोड़ दे परंतु उसकी बात पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

उसे पता चला था कि सुखविंदर कौर व उसका पति बेटे यामीन के साथ लड़ाई-झगड़ा भी करते हैं। 28 जून की रात करीब 10 बजे उसे बिंजोकी कलां के रहने वाले शमशाद खान ने बताया कि सुखविंदर कौर व उसके पति ने बेटे यामीन के साथ झगड़ा किया है। झगड़ा करने के बाद बेटे को कोई जहरीली चीज खिला दी गई है।

इसके बाद वह उसके घर पहुंचे जहां यामीन की लाश बेड पर पड़ी थी। वह बेटे की लाश को उठाकर सिविल अस्पताल मालेरकोटला ले गए। उसे पूरा यकीन है कि पति और पत्नी ने मिलकर बेटे यामीन को जहरीली चीज खिलाकर उसका कत्ल किया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें