संघर्ष:कर्मचारियों और पेंशनरों की मांगें, चुनाव घोषणा पत्र में शामिल कर लागू की जाएं

संगरूर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समूह मुलाजिम व पेंशनर अपनी मांगों की प्राप्ति के लिए संघर्ष कर रहे

विभिन्न मुलाजिम संगठनों की बैठक की गई। इसमें पंजाब सुबार्डिनेट सर्विसेस फेडरेशन के प्रधान दर्शन सिंह, चेयरमैन रणबीर ढिल्लों, महासचिव रणजीत सिंह राणवा, सचिव करतार सिंह, गवर्नमेंट टीचर यूनियन के राज्य प्रधान सुरिंदर कुमार, सीनियर उप प्रधान प्रेम चाला, महासचिव बलकार सिंह, पंजाब पेंशनर यूनियन के प्रधान गुरमेल सिंह, महासचिव अवतार सिंह, पंजाब गवर्नमेंट ट्रांसपोर्ट वर्कर यूनियन के गुरदीप सिंह ने पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ रही समूह राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से मांग की कि सरकार के विभिन्न विभागों में काम करते कच्चे, आउटसोर्सिंग मुलाजिमों, रेगुलर मुलाजिमों व पेंशनरों संबंधी अपना एजेंडा सार्वजनिक करें।

उन्होंने कहा कि पंजाब के समूह मुलाजिम व पेंशनर अपनी मांगों की प्राप्ति के लिए संघर्ष कर रहे हैं जबकि वोट हासिल करने के बाद सरकार मुलाजिमों व पेंशनरों की तरफ ध्यान नहीं देती। उन्होंने कहा कि राजनीतिक पार्टियों को मुलाजिमों व पेंशनरों की मांगों को अपने चुनाव मनोरथ पत्र में योगय स्थान देना चाहिए व सरकार बनने पर इन मांगों की पूर्ति करनी चाहिए। इस मौके पर हरभजन पिलखनी, उतम सिंह बागड़ी, गुरप्रीत मंगवाल, सुखदेव सुरतापुरी, जसविंदरपाल, बलजिंदर सिंह, जगमोहन नौलखा, मेला सिंह पुनावाल, सीताम शर्मा, वेद प्रकाश, राज कुमार, हरभगवान मुक्तसर आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...